पेरम्बलुर सांसद की अच्छी पहल, दूसरों के लिए बने मिसाल, निर्वाचन क्षेत्र के 300 छात्रों को देंगे मुफ्त शिक्षा

SRMIST’s founder chancellor and Perambalur Lok Sabha MP T R Paarivendhar l

 

पेरम्बलुर सांसद की अच्छी पहल, दूसरों के लिए बने मिसाल
- निर्वाचन क्षेत्र के 300 छात्रों को देंगे मुफ्त शिक्षा, योग्य छात्रों को दिलाएंगे नौकरी भी
- चुनाव पूर्व किया था वादा

By: ASHOK SINGH RAJPUROHIT

Published: 10 Sep 2021, 11:18 PM IST

चेन्नई. नेता अक्सर चुनावों से पहले कई लम्बे-चौड़े वादे करते हैं लेकिन चुनाव जीतने के बाद अक्सर वे उन वादों को भूल जाते हैं। लेकिन पेरम्बलुर सांसद ने एक अच्छी पहल करते हुए दूसरों के लिए मिसाल कायम की है। चुनाव से पूर्व उन्होंने वादा किया था कि वे छात्रों को मुफ्त में पढ़ाई कराएंगे। इस वादे पर वे खरे उतरे हैं। पिछले साल भी उन्होंने तीन सौ छात्रों को मुफ्त शिक्षा दिलाई और इस शैक्षणिक सत्र में भी वे इतने ही छात्रों को मुफ्त शिक्षा प्रदान करेंगे। इसके लिए एसआरएम इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी की ओर से पेरम्बलुर निर्वाचन क्षेत्र के 300 छात्रों को छात्रवृत्ति प्रदान कर रहा है।
एसआऱएम के कुलाधिपति और पेरम्बलुर सांसद डॉ. टी. आर पारिवेन्दर ने बताया कि पिछले दो साल में 600 छात्रों को मुफ्त शिक्षा दी गई है। इस साल भी अपने चुनावी वादे के तहत पेरम्बलुर संसदीय क्षेत्र के 300 छात्रों को मुफ्त शिक्षा प्रदान की जाएगी। पेरम्बलुर लोकसभा क्षेत्र के छात्र, जो इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी, विज्ञान और मानविकी, कृषि विज्ञान, प्रबंधन, स्वास्थ्य विज्ञान, होटल प्रबंधन आदि करना चाहते हैं, वे आवेदन कर सकते हैं। आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के आवेदकों का चयन उनकी संबंधित बोर्ड परीक्षाओं में उनके प्रदर्शन के आधार पर किया जाएगा।
पेरम्बलुर निर्वाचन क्षेत्र के आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के इन 300 छात्रों को उनके एसआरएम समूह के संस्थानों में मुफ्त शिक्षा दी जाएगी। यह योजना केवल पूर्ण शिक्षण शुल्क को कवर करेगी और अकादमिक प्रदर्शन के आधार पर नवीनीकृत की जाएगी। कोविड -19 महामारी को देखते हुए छात्रावास की सुविधा प्रदान नहीं की जाएगी।
कर सकेंगे उच्च अध्ययन
सांसद ने कहा कि एसआरएम समूह निजी विश्वविद्यालयों में शिक्षा को आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों के लिए लाभकारी बनाने का प्रयास करेगा। उन्होंने कहा, छात्रों को इस अवसर का उपयोग उच्च अध्ययन के लिए करना चाहिए। उन्होंने आश्वासन दिया कि योग्य छात्रों को उपयुक्त प्लेसमेंट मिलेगा। इस छात्रवृत्ति के लिए चयन प्रक्रिया योग्यता और छात्र की आर्थिक पृष्ठभूमि के आधार पर की जाएगी।
आर्थिक रूप से कमजोर परिवार
पारिवेन्दर ने कहा, मेरे निर्वाचन क्षेत्र में आर्थिक रूप से कमजोर पृष्ठभूमि के कई लोग हैं। उनमें से ज्यादातर किसान हैं और उनके बच्चों के पास अच्छी शिक्षा और नौकरी के अवसर नहीं हैं। ऐसे में मेरे निर्वाचन क्षेत्र के लोगों को अच्छी, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने के अलावा मैं उन्हें बेहतर बुनियादी सुविधाएं भी प्रदान करना चाहता हूं। इस अवसर पर कुलपति डॉ. सी. मुथामिझचेलवन, रजिस्ट्रार डॉ. एस. पोन्नुसामी, निदेशक (प्रवेश) डॉ. के.एस. लक्ष्मी और निदेशक (संचार) आर नंदकुमार भी मौजूद थे। उनके निर्वाचन क्षेत्र में पात्र लोगों को 18 सितंबर 2021 या उससे पहले आवेदन जमा करना होगा।

ASHOK SINGH RAJPUROHIT
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned