डीएमके सहित विपक्षी दलों ने प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज की निंदा की

विपक्षी पार्टी डीएमके ने कड़ी निंदा करते हुए पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

चेन्नई.

महानगर के उपनगरीय इलाका वाशरमेनपेट में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) को लेकर शनिवार को भी प्रदर्शन हो रहे हैं। नार्थ चेन्नई के वाशरमेनपेट मेट्रो स्टेशन और मिंट जंक्शन के निकट करीब २ हजार से अधिक प्रदर्शनकारी इक्कट्टा हुए है और शुक्रवार रात को प्रदर्शनकारियों व पुलिस के बीच झडप के विरोध में प्रदर्शन कर रहे है।

इसे लेकर विपक्षी पार्टी डीएमके ने कड़ी निंदा करते हुए पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

डीएमके समेत विपक्षी दलों ने यहां सीएए विरोधी प्रदर्शनकारियों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई की निंदा की। उन्होंने प्रदर्शनकारियों के खिलाफ कथित रूप से बल प्रयोग करने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

स्टालिन ने कहा, बल प्रयोग क्यों किया
डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन ने कहा कि शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन किए जा रहे थे। उन्होंने सवाल किया कि पुलिस ने उन्हें तितर-बितर करने के लिए बल प्रयोग क्यों किया। स्टालिन ने कहा कि शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे लोगों पर अकारण अनावश्यक लाठीचार्ज किया गया और इसके कारण राज्यभर के लोगों को सड़कों पर उतरना पड़ा। हालांकि भाजपा नेता एच राजा ने पुलिसकर्मियों पर हमले की निंदा की, जिसमें महिला संयुक्त आयुक्त समेत चार लोग घायल हो गए थे।

CAA
PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned