Tamilnadu: फेशियल रिकॉग्निशन सॉफ्टवेयर तकनीक की शुरूआत, अपराधियों को पहचानने में करेगा मदद

- मुख्यमंत्री स्टालिन ने सॉफ्टवेयर लांच किया

By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 04 Oct 2021, 06:52 PM IST

चेन्नई.

मुख्यमंत्री एमके. स्टालिन ने सोमवार को पुलिसकर्मियों की जांच में मदद करने के लिए अपराधियों की पहचान करने और उन्हें गिरफ्तार करने के लिए कृत्रिम बुद्धि द्वारा समर्थित फेशियल रिकॉग्निशन सॉफ्टवेयर (चेहरा पहचानने वाला सॉफ्टवेयर) लॉन्च किया। सॉफ्टवेयर अपराध और आपराधिक ट्रैकिंग नेटवर्क और सिस्टम (सीसीटीएनएस) में अपलोड की गई 5.30 लाख से अधिक तस्वीरों के डेटा सिस्टम के साथ संदिग्धों की तस्वीरों की पहचान करने में मदद करेगा।

इस मौके पर मुख्य सचिव वी. इरै अंबू, गृह सचिव एसके प्रभाकर, पुलिस महानिदेशक सी. शैलेन्द्र बाबू, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक विनीत देव वानखेड़े (राज्य अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो) और वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया है कि सॉफ्टवेयर की मदद से आरोपी, संदिग्धों, लापता व्यक्तियों और अज्ञात लाशों को सीसीटीएनएस के डेटा के साथ ट्रैक किया जाएगा। यदि आरोपी या संदिग्ध किसी अन्य पुलिस स्टेशन द्वारा जांच किए जा रहे किसी अन्य अपराध में भी शामिल है, तो उसके बारे में जानकारी उनके बीच साझा की जाएगी।

सॉफ्टवेयर की मदद से यह भी पता लगाया जा सकेगा कि कोई व्यक्ति आपराधिक प्रवृत्ति का है या नहीं। उसके खिलाफ कोई वारंट जारी हुआ है नहीं, या लंबित है। यह सॉफ्टवेयर प्रत्येक पुलिस थानों में इंस्टॉल किया जाएगा। वहीं पुलिसकर्मियों के मोबाइल में भी यह सॉफ्टवेयर डाला जाएगा। सीसीटीवी से प्राप्त फुटेज में चेहरों की पहचान करने के लिए सॉफ्टवेयर में सुधार की योजना है।

यह सॉफ्टवेयर उन परिस्थितियों में मददगार साबित होगा जिनकी तलाश की जा रही है और लापता व्यक्तियों को बस, रेलवे या हवाई टर्मिनस या त्योहारों में ट्रैक किया जा सकता है।

क्या हैं फेसिअल रिकग्निशन तकनीक
चेहरे की पहचान बायोमेट्रिक सॉफ़्टवेयर की एक श्रेणी है जो किसी व्यक्ति के चेहरे की विशेषताओं को गणितीय रूप से मैप करती है और डेटा को फेसप्रिंट के रूप में संग्रहीत करती है। सॉफ्टवेयर किसी व्यक्ति की पहचान को सत्यापित करने के लिए एक लाइव कैप्चर या डिजिटल इमेज को संग्रहीत फेसप्रिंट की तुलना करने के लिए डीप लर्निंग एल्गोरिदम का उपयोग करता है। ये तकनीक चलती भीड़ में कई लोगों की पहचान को इंगित करने के लिए विभिन्न भावनात्मक प्रतिक्रियाओं का पता लगा सकती हैं।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned