डीएमके सत्ता में आई तो सौ दिनों के अंदर लोगों की शिकायतों का निकाला जाएगा हल: स्टालिन

डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन ने शुक्रवार को अपने वादे को दोहराते हुए कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में अगर डीएमके की सत्ता आती है

By: Vishal Kesharwani

Published: 29 Jan 2021, 02:00 PM IST


चेन्नई. डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन ने शुक्रवार को अपने वादे को दोहराते हुए कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में अगर डीएमके की सत्ता आती है तो सौ दिनों के अंदर लोगों की शिकायतों का निवारण किया जाएगा। तिरुवन्नमालै में चुनावी अभियान के दौरान स्टालिन को याचिकाओं का पहला बैच प्राप्त हुआ। उन्होंने कहा कि वे राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय एम. करुणानिधि के बेटे हैं और वे जो वादा करते थे उसे पूरा भी करते थे। उनका बेटा होने के नाते मैं भी ऐसा करने का आश्वासन देता हूं।

 

लोगों से प्राप्त शिकायतों को पार्टी द्वारा मुद्रित रूपों में प्रस्तुत कर एक बॉक्स में डाल कर सील कर दिया जाएगा। गत सोमवार को भी मीडिया के सामने मैने सत्ता में आने के बाद सौ दिन के अंदर समस्याओं का निवारण करने का वादा किया था और फिर से वही वादा कर रहा हूं। सील हुए बॉक्स को शपथ ग्रहण के दौरान मेरे सामने खोला जाएगा और प्राप्त सभी समस्याओं को सौ दिनों के अंदर खत्म कर दिया जाएगा।

 

उनगल थोगीडील नामक चुनावी अभियान की पहली बैठक में तिरुवन्नमालै, किझपेन्नात्तूर, कलासापाक्कम और चेंगम के लोगों को कवर किया गया। अगले 30 दिनों के अंदर स्टालिन राज्य भर के 234 विधानसभा क्षेत्रों को कवर करने वाले हैं। लोगों द्वारा प्राप्त शिकायतों में विधवा व वृद्धावस्था पेंशन, युवाओं के लिए नौकरी के अवसर, पेयजल पाइपलाइन और राज्य सरकार के लंबित भर्ती को शुरू करने समेत अन्य मांग शामिल है।

 

बॉक्स को सील करने से पहले कुछ याचिकाओं को निकाला गया और समस्याओं को उजागर किया गया। शिकायत देने और स्वीकृति मिलने के बाद सभी कार्यक्रम स्थल से चले गए। स्टालिन ने कहा कि शिकायत देने के बाद उसकी स्वीकृति मिलने पर लोगों को सवाल करने का पूरा अधिकार है। इसके अलावा सत्ता में आने के बाद कृषि लोन, गहने लोन और शिक्षा लोन को माफ कर दिया जाएगा।

Vishal Kesharwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned