राज्य के दस नए सरकारी कॉलेजों में है बुनियादी सुविधाओं की कमी: स्टालिन

डीएमके अध्यक्ष एम.के. स्टालिन ने बुधवार को राज्य भर में हाल ही में उद्घाटन किए गए दस नए सरकारी आटर्स एंड साइंस कॉलेजों में बुनियादी सुविधाओं की कमी को लेकर राज्य सरकार की निंदा की।

By: Vishal Kesharwani

Published: 28 Oct 2020, 06:05 PM IST


चेन्नई. डीएमके अध्यक्ष एम.के. स्टालिन ने बुधवार को राज्य भर में हाल ही में उद्घाटन किए गए दस नए सरकारी आटर्स एंड साइंस कॉलेजों में बुनियादी सुविधाओं की कमी को लेकर राज्य सरकार की निंदा की। उच्च शिक्षा के प्रति इस तरह की लापरवाही पर सवाल उठाते हुए स्टालिन ने सरकार से विद्यार्थियों की सहायता के लिए जल्द से जल्द कॉलेजों में बुनियादी सुविधा और शिक्षकों की नियुक्ति करने का आग्रह किया, ताकि विद्यार्थी अपनी पढ़ाई को सही तरीके से जारी रख सकें। राज्य सरकार ने कल्लकुरिचि, तेनकासी, रानीपेट और नागपट्टिनम समेत नौ जिलों में नए आट्र्स एंड साइंस कॉलेज के निर्माण की घोषणा की थी।

 

जिसमें महिलाओं के लिए दो कॉलेज शामिल है। अपने उच्च शिक्षा के अध्ययन के लिए करीब दो हजार विद्यार्थियों ने इन कॉलेजों में दाखिला ले लिया है। लेकिन एक महीने के बाद भी बुनियादी सुविधाओं के अभाव से ऑनलाइन कक्षाओं का संचालन नहीं हो पा रहा है। स्टालिन ने कहा सेमेस्टर को ध्यान में रखते हुए अधिकारियों ने कहा है कि आंतरिक परीक्षाओं के अंक भी सेमेस्टर में छात्रों का आकलन करते समय ध्यान में रखा जाएगा। जब कॉलेज में कक्षाओं का आयोजन ही नहीं हो रहा है तो आंतरिक परीक्षा कैसे हो सकता है। विद्यार्थियों के भलाई को ध्यान में रखते हुए सरकार को जल्द से जल्द आवश्यक सुविधा प्रदान करनी चाहिए। उन्होंने कहा राज्य सरकार किसी भी योजना को पूरी तरह से लागू करने के बजाय अपना पूरा ध्यान घोषणाओं में ही केंद्रीत कर रही है।

Vishal Kesharwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned