स्टालिन ने ओपीएस से कहा मोदी को बताएं कि ओबीसी के लिए 50 प्रतिशत  कोटा अगर नहीं मिला तो नहीं रहेंगे गठबंधन में

. स्टालिन ने सोमवार को राज्य के मुख्यमंत्री एडपाडी के. पलनीस्वामी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर ऑल इंडिया कोटा के तहत इस साल से ही ओबीसी के लिए 50 प्रतिशत आरक्षण कोटा प्रदान करने के लिए दबाव बनाने का आग्रह किया।

By: Vishal Kesharwani

Updated: 26 Oct 2020, 06:25 PM IST


चेन्नई. डीएमके अध्यक्ष एम.के. स्टालिन ने सोमवार को राज्य के मुख्यमंत्री एडपाडी के. पलनीस्वामी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर ऑल इंडिया कोटा के तहत इस साल से ही ओबीसी के लिए 50 प्रतिशत आरक्षण कोटा प्रदान करने के लिए दबाव बनाने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री को शर्त रखनी चाहिए कि अगर कोटा प्रदान नहीं किया गया तो आगामी विधानसभा चुनाव में एआईएडीएमके भाजपा के साथ गठबंधन में नहीं रहेगी। स्टालिन ने कहा कि मोदी ने अगड़ी जाति के लोगों के बीच आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण को लागू करने में तत्परता दिखाई। लेकिन अन्य पिछड़े वर्ग के लोगों के लिए मोदी उसी प्रकार की तत्परता नहीं दिखा रहे हैं।

 

ऐसी परिस्थिति में डबल गेम खेलने के बजाय मुख्यमंत्री को इस साल इसे लागू करने के लिए मोदी पर दबाव बनाना चाहिए। सुप्रीम कोर्ट द्वारा एआईएडीएमके, डीएमके और अन्य राजनीतिक दलों द्वारा दायर याचिका को खारिज करने के बाद स्टालिन ने यह बयान दिया। उन्होंने कहा केंद्र ने बताया कि इस साल 50 प्रतिशत आरक्षण को लागू करने में वे असमर्थ हैं और उनके वकीलों द्वारा तर्क के बाद यह सफलता सुनिश्चित हो गई, जबकि तमिलनाडु का प्रतिनिधित्व करने वाले वकीलों ने इस तरह का उत्साही तर्क नहीं दिया। पिछड़े और अन्य वर्गों के प्रभावित लोग हमेशा शांत नहीं रह सकते हैं। स्टालिन ने प्रधानमंत्री से इस संबंध में हस्तक्षेप कर इस साल से कोटा सुनिश्चित कराने का भी आग्रह किया।

pm modi
Vishal Kesharwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned