अगले साल तक स्कूल व कॉलेज ना खोले सरकार: स्टालिन

डीएमके अध्यक्ष एम.के. स्टालिन ने मंगलवार को कहा कि ऐसे समय में जब विश्व स्वास्थ्य संगठन समेत अन्य संगठनों द्वारा एक बार फिर से कोरोना के प्रसार की भविष्यवाणी की गई है

By: Vishal Kesharwani

Published: 03 Nov 2020, 06:57 PM IST


चेन्नई. डीएमके अध्यक्ष एम.के. स्टालिन ने मंगलवार को कहा कि ऐसे समय में जब विश्व स्वास्थ्य संगठन समेत अन्य संगठनों द्वारा एक बार फिर से कोरोना के प्रसार की भविष्यवाणी की गई है तो स्कूलों और कॉलेजों को खोलने का सरकार का निर्णय निंदनीय है। उन्होंने कहा कि वे मुख्यमंत्री एडपाडी के. पलनीस्वामी को याद दिलाना चाहते हैं कि विद्यार्थियों की सुरक्षा बहुत ही जरूरी है। ऐसी स्थिति में जल्दबाजी में किसी प्रकार का निर्णय लेने के बजाय मुख्यमंत्री को अभिभावक शिक्षक एसोसिएशन और मेडिकल प्रोफेसनलों के साथ बैठक कर उचित निर्णय लेना चाहिए। तब तक के लिए मुख्यमंत्री को आगामी 16 नवंबर से स्कूल और कॉलेज खोलने के सरकार के निर्णय को रोक कर रखना चाहिए।

 

स्टालिन ने कहा स्कूल और कॉलेज खोलने की सरकार की घोषणा के बाद से अभिभावक और शिक्षकों को चिंता होने लगी है, क्योंकि उन्हें उनके बच्चों की चिंता है और हॉस्टल में रहने वालों के लिए खाने और रहने की सुरक्षित व्यवस्था करनी पड़ेगी। डबल्यूएचओ द्वारा यूके, इजराइल, साउथ कोरिया और वियतनाम के लिए किए गए अध्ययन की ओर इशारा करते हुए स्टालिन ने कहा उच्च और उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों में अधिक संक्रमण देखा गया था। ऐसे में शिक्षण संस्थानों को खोलने के बाद सैनिटाइजर का उपयोग और सामाजिक दूरी सुनिश्चित कैसे किया जा सकता है। स्टालिन ने कहा लॉकडाउन में रियायत मिले इलाकों में सुरक्षा उपाय पूरी तरह से प्रभावित हो चुके हैं।

 

अगर सरकार विद्यार्थियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने में विफल हुई तो अभिभावकों, विद्यार्थियों और शिक्षकों के लिए खतरा हो सकता है। उन्होंने कहा शिक्षण संस्थानों को खोलने की बात आने पर सरकार हमेशा से भ्रम की स्थिति में रही है। डॉक्टरों ने चिंता व्यक्त किया है कि उत्तर पूर्व मानसून के बीच जलवायु परिस्थितियों के परिवर्तन से मौसमी बीमारियों की उम्मीद बढ़ती है। शिक्षक और अभिभावक चाहते हैं कि राज्य की स्कूल और कॉलेज पोंगल के बाद खोली जाएं। ऐसी परिस्थितियों को देखते हुए सरकार को स्कूलों को खोलने में किसी प्रकार की जल्दबाजी नहीं दिखानी चाहिए। उल्लेखनीय है कि दो दिन पहले सरकार ने कहा था कि दिपावली के बाद से स्कूल और कॉलेज खोल दिए जाएंगे।

Show More
Vishal Kesharwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned