CM स्टालिन ने PM मोदी को लिख पत्र: कोरोना वैक्सीन और जीवनरक्षक दवाओं पर GST शून्य करने की मांग की

जीएसटी दरों को कम करने का फैसला जीएसटी काउंसिल से सलाह लेने के बाद की जाए और यह तब तक के लिए हो जब तक कि राज्य सरकार इसे खरीद रही है।

By: PURUSHOTTAM REDDY

Updated: 13 May 2021, 06:02 PM IST

चेन्नई.

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखकर उनसे कोरोना वायरस रोधी वैक्सीन, जीवनरक्षक दवाओं, मेडिकल सामग्री और कोरोना से जुड़े अन्य दवाओं की खरीद पर कुछ निश्चित समय के लिए वस्तु व सेवाकर (जीएसटी) को घटाकर शून्य करने की मांग की है।

स्टालिन ने कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर को रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखते हुए सुझाव दिए। उन्होंने कहा कि वैक्सीन पर लगाए जा रहे टैक्स को भी हटाया जाना चाहिए। उन्होंने पत्र में यह भी कहा है कि जीएसटी दरों को कम करने का फैसला जीएसटी काउंसिल से सलाह लेने के बाद की जाए और यह तब तक के लिए हो जब तक कि राज्य सरकार इसे खरीद रही है।

इसके साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से बकाए जीएसटी और चावल सब्सिडी की रकम के तुरंत अदायगी की भी मांग की है क्योंकि इसकी वजह से तमिलनाडु पर कर्ज तीन प्रतिशत से बढकऱ एसजीडीपी के चार प्रतिशत तक पहुंच गया है।

इससे पहले सोमवार को केंद्र सरकार ने कोरोना की दवा, वैक्सीन और आक्सीजन कंसंट्रेटर्स की घरेलू आपूर्ति तथा वाणिज्यिक आयात पर वस्तु व सेवाकर (त्रस्ञ्ज) हटाने से इनकार कर दिया था। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा था कि अगर जीएसटी हटा दिया गया तो आम उपभोक्ता के लिए ये सभी सामान महंगे हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि जीएसटी हटने पर इनके निर्माता उत्पादन में इस्तेमाल कच्चे माल दूसरी सामानों पर चुकाए गए टैक्स के लिए इनपुट-टैक्स-क्रेडिट का दावा नहीं कर सकेंगे।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned