राजीव गांधी के हत्यारे एजी पेरारिवलन को सुप्रीम कोर्ट ने दी राहत, 7 दिन के लिए बढ़ाई पैरोल

राजीव गांधी के हत्यारे को सुप्रीम कोर्ट ने दी राहत।
हत्यारे ने राहत पाने के लिए मेडिकल ग्राउंड को बनाया आधार।

By: PURUSHOTTAM REDDY

Updated: 23 Nov 2020, 05:27 PM IST

चेन्नई.

सुप्रीम कोर्ट ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के हत्यारोपी एजी पेरारिवलन को बड़ी राहत दी। सोमवार को सुनवाई के बाद शीर्ष अदालत ने मेडिकल ग्राउंड पर पेरारिवलन की पैरोल की अवधि एक सप्ताह के लिए बढ़ा दी है। इस मामले की सुनवाई अब जनवरी 2021 में होगी। शीर्ष अदालत पेरारिवलन को इलाज के लिए एक सप्ताह के लिए पैरोल में छूट दी है। शीर्ष अदालत ने तमिलनाडु (Tamilnadu Government ) सरकार से कहा कि जब वह मेडिकल जांच के लिए जाए तो पेरारिवल को पुलिस सुरक्षा मुहैया कराई जाए।

30 अक्टूबर को पैरोल पर आया था बाहर
इतना ही नहीं शीर्ष अदालत ने राज्य सरकार को यह भी आदेश दिया कि याचिकाकर्ता की चिकित्सा जांच के दौरान पर्याप्त पुलिस सुरक्षा मुहैया कराई जाए। पेरारिवलन 30 अक्टूबर को पैरोल पर बाहर आया था और उसकी पैरोल अवधि आज खत्म हो रही थी। इस बीच, सुनवाई के दौरान मामले की जांच कर रही एजेंसी केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने सुप्रीम कोर्ट को बताया है कि पेरारिवलन को रिहा करने में उसकी कोई भूमिका नहीं है।

राज्यपाल के पास लंबित है दया याचिका

बता दें कि राजीव गांधी हत्याकांड में आरोपी पेरारिवलन और अन्य दोषियों की रिहाई के लिए राज्य सरकार की सिफारिश राज्यपाल के पास लंबित है। इससे पहले हुई सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने हत्यारे पेरारिवलन की दया याचिका राज्यपाल के पास दो साल से लंबित रहने पर नाराजगी जताई थी। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि हम अपने अधिकार क्षेत्र का प्रयोग नहीं करना चाहते हैं, लेकिन हम इस बात से खुश नहीं हैं कि यह सिफारिश दो साल से लंबित है। कोर्ट ने कहा कि हमें बतायाजाए कि कानून और मामले क्या हैं, जो हमें ऐसा करने की अनुमति दे सकते हैं।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned