स्वच्छ भारत सेवा व सफाई अभियान रुके नहीं : लक्ष्मणन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो स्वच्छ भारत और स्वस्थ भारत का अभियान शुरू किया है वह रुकना नहीं चाहिए। हमें यह प्रयास लगातार जारी रखना चाहिए। गांधीजी की १५०वीं जयंती के उपलक्ष में सीआईआई यंग इंडियन्स, राजलक्ष्मी इंजीनियरिंग कॉलेज, फेडरेशन ऑफ टे्रडर्स एंड मैन्युफैक्चर्स एसोसिएशन के संयुक्त तत्वावधान में साहुकारपेट और फ्लावर बाजार से जुड़ी ८ गलियों की सफाई की गई।

चेन्नई।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो स्वच्छ भारत और स्वस्थ भारत का अभियान शुरू किया है वह रुकना नहीं चाहिए। हमें यह प्रयास लगातार जारी रखना चाहिए। गांधीजी की १५०वीं जयंती के उपलक्ष में सीआईआई यंग इंडियन्स, राजलक्ष्मी इंजीनियरिंग कॉलेज, फेडरेशन ऑफ टे्रडर्स एंड मैन्युफैक्चर्स एसोसिएशन के संयुक्त तत्वावधान में साहुकारपेट और फ्लावर बाजार से जुड़ी ८ गलियों की सफाई की गई।


इस मौके पर युवाओं को प्रोत्साहित करते हुए फ्लावर बाजार के सहायक पुलिस आयुक्त लक्ष्मणन ने कहा सफाई व स्वच्छता केवल एक दिन के प्रयास से नहीं आती, इसके लिए हमें निरंतर प्रयासरत रहने की जरूरत है। इसलिए यह जरूरी है कि हम सफाई और स्वच्छता के इस अभियान को रुकने न दें।

इस मौके पर भाजपा नेता कृष्ण कुमार नाथानी ने कहा फ्लावर बाजार को ट्रेडिंग हब के रूप में जाना जाता है यही इसे कचरे का हब भी बनाता है। इसलिए गांधीजी की १५०वीं जयंती पर हमने सोचा है कि इस गारबेज हब में सफाई से शुरुआत कर राष्ट्रपिता को याद करें और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए गए महत्वाकांक्षी अभियान में एक नया अध्याय जोड़ें। नाथानी ने युवाओं से कहा कि आज की सफाई के बाद भले ही अगले दिन यहां कचरे का अम्बार फिर से नजर आए पर हमें हिम्मत नहीं हारनी चाहिए।

हम सफाई का यह प्रयास तब तक जारी रखेंगे जब तक लोगों में सफाई के प्रति जागरूकता न आ जाए। इस सफाई अभियान में करीब 150 कॉलेज विद्यार्थी और अन्य संस्थाओं के 50 वॉलंटीयर्स ने हिस्सा लिया। इस मौके पर सीआईआई से आदित्य रूंगटा, फेडरेशन से सुरेंद्र व्यास, सतीश चौहान, हुक्मीचंद शाह, बाबूलाल नाहटा, रंजीत जैन समेत कई अन्य पदाधिकारी उपलब्ध थे।

मंत्री के खिलाफ भ्रष्टाचार मामले में प्राधिकार का सवाल

राज्य के स्थानीय प्रशासन मंत्री एस. पी. वेलुमणि के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच के लिए एक विशेष जांच दल के गठन का अनुरोध करते हुए द्रमुक ने मद्रास उच्च न्यायालय में बुधवार को याचिका दायर कर कहा कि मामले में मुकदमे की मंजूरी के लिए राज्यपाल सक्षम प्राधिकारी हैं। महाधिवक्ता विजय नारायण ने दलील दी कि मंत्री पर मुकदमा चलाने की मंजूरी सरकार से लेनी होगी। इसके जवाब में याचिकाकर्ता द्रमुक नेता आर. एस. भारती की ओर से पेश वरिष्ठ वकील एन. आर. इलांगो ने न्यायमूर्ति जगदीश चंदीरा के समक्ष कहा, ऐसा नहीं है। इलांगो ने कहा चूंकि सरकार पर खुद भी भ्रष्टाचार के आरोप हैं इसलिए मुकदमे की मंजूरी राज्यपाल से लेनी होगी। महाधिवक्ता ने इस पर कहा कि वह प्राधिकारी के मुद्दे पर बहस के लिए तैयार हैं।

सतर्कता एवं भ्रष्टाचार निरोध निदेशालय की ओर से पेश विजय नारायण ने दलील दी कि भ्रष्टाचार रोकथाम कानून के हालिया संशोधन के अनुसार किसी लोक सेवक पर मुकदमा चलाने की मंजूरी सरकार से लेनी होगी। न्यायमूर्ति ने इसके बाद मामले में आगे की सुनवाई के लिए 26 अक्टूबर की तारीख तय की। द्रमुक ने मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी, उपमुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेल्वम और वेलुमणि सहित कई मंत्रियों पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए इस संबंध में मद्रास उच्च न्यायालय में याचिका दायर की है।

जुलाई में राज्यसभा और इसके बाद लोकसभा ने भ्रष्टाचार रोकथाम (संशोधन) विधेयक, 2018 को पारित किया था। अन्य प्रावधानों के साथ प्रभाव में आए संशोधनों में रिश्वत लेने-देने वाले दोनों को दंडित करने का प्रावधान है।

मुकेश शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned