हस्तनिर्मित उत्पाद को दे रहे बढ़ावा

देशी दिवाली खुशियों वाली

हस्तनिर्मित उत्पाद को दे रहे बढ़ावा
-झालर, तोरण समेत अन्य उत्पादों के प्रति बढ़ रहा लगाव
- त्योहार के सीजन में कर रहे पसंद

By: Ashok Rajpurohit

Published: 13 Nov 2020, 08:28 PM IST

चेन्नई. त्योहार के सीजन में हस्तनिर्मित उत्पाद एक बार फिर से लोगों में रूचि जगाने लगे हैं। झालर. तोरण व इसी तरह के अन्य उत्पाद अब लोग पसंद करने लगे हैं। आधुनिक दौर में संस्कृति की जीवंतता का यह अनुपम उदाहरण है। कई लोग अपने खुद के घर पर ही इस तरह के हस्तनिर्मित उत्पाद तैयार कर रहे हैं। चेन्नई की कीर्तिका जैन भी इनमें से एक है। वे स्वदेशी को बढ़ावा देने के साथ ही लोगों को स्वदेशी सामग्री की खरीद के लिए लगातार प्रोत्साहित व जागरुक करने का काम भी कर रही है। अलग-अलग त्योहार की जरूरत के अनुसार घर पर ही सामग्री तैयार कर रही है। खास बात यह है कि कई उत्पाद तो ऐसे हैं जो घर में काम नहीं आ रही चीजों से तैयार कर उन्हें उपयोगी बनाया जा रहा है। जैन कहती हैं, हम घर की कई चीजें वेस्ट समझकर बाहर फेंक देते हैं लेकिन इन्हें फिर से आधुनिक व अच्छा रूप देकर काम में लिया जा सकता है। वे अब तक कई प्रदर्शनी के माध्यम से घर में बनाए उत्पादों का विक्रय कर चुकी है।
हस्तनिर्मित उत्पादों की मांग
इन दिनों स्वदेशी उत्पाद को लेकर जगह-जगह बढ़ावा दिया जा रहा है। इसके सकारात्मक असर देखने को मिल रहा है। अब दिवाली के मौके पर ऐसे हस्तनिर्मित उत्पादों की खूब मांग है। लोग चाव से इन्हें खरीदकर घर को सजाने-संवारने में काम में ले रहे हैं। झूमर व तोरण भी कई प्रकार के बनाए जा रहे है। इनकी डिजाइन भी इस तरह से रखी जाती है कि लोगों को एक नजर में ही पसंद आ जाते हैं।
...................


स्वदेशी मुहिम को दे रहे बढ़ावा
हम स्वदेशी की मुहिम को बढ़ावा दे रहे है। इसका असर भी दिखा है। लोग स्वेच्छा से अब स्वदेशी उत्पाद अधिक खऱीदने लगे हैं। आने वाले समय में स्वदेशी उत्पादों की महत्ता और बढ़ेगी।
- फतेहराज जैन, सामाजिक कार्यकर्ता, चेन्नई।
............................

Ashok Rajpurohit
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned