तमिलनाडु में लॉकडाउन के विस्तार की सिफारिश नहीं: विशेषज्ञ कमेटी

कोविड १९ महामारी से निपटने के संबंध में तमिलनाडु सरकार को सुझाव देने के लिए गठित विशेषज्ञ समिति कुछ खास क्षेत्रों में स्थिति के अनुसार प्रतिबंध लागू रखने के पक्ष में है

By: Vishal Kesharwani

Updated: 29 Jun 2020, 08:13 PM IST

 


चेन्नई. कोविड १९ महामारी से निपटने के संबंध में तमिलनाडु सरकार को सुझाव देने के लिए गठित विशेषज्ञ समिति कुछ खास क्षेत्रों में स्थिति के अनुसार प्रतिबंध लागू रखने के पक्ष में है लेकिन उसने मंगलवार तक लागू लॉकडाउन को राज्य में और विस्तार दिए जाने की सिफारिश नहीं की है। मेडिकल और सार्वजनिक स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने सोमवार को राज्य सचिवालय में मुख्यमंत्री एडपाडी के. पलनीस्वामी से मुलाकात कर राज्य में कोरोना के प्रसार को लेकर उत्पन्न हो रही स्थिति को लेकर चर्चा की। बैठक के दौरान कमेटी ने वर्तमान में जारी लॉकडाउन के विस्तार को लेकर किसी प्रकार की सिफारिश नहीं की। पैनल ने कहा कि लॉकडाउन ने कोरोना में काफी हद तक नियंत्रण करने में मदद की है, लेकिन वायरस को खत्म करने के लिए यही एक उपाय नहीं हो सकता है।

 

 

लॉकडाउन ३० जून को समाप्त हो जाएगा। बैठक में हिस्सा लेने के बाद आईसीएमआर के राष्ट्रीय महामारी विज्ञान संस्थान की डॉ प्रभदीप कौर ने कहा कि समिति ने शहर में चलाए जा रहे बुखार शिविरों की पहल को राज्य के अन्य भागों में विस्तार देने की भी सिफारिश की है। उन्होंने कहा कि शिविर कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों का जल्द पता लगाने और मामले दोगुना होने के समय को बढ़ाने में भी सहायक साबित हो रहे हैं। कौर ने कहा लॉकडाउन एक सीधा तरीका है। हालांकि सर्वोत्तम उपाय नहीं है, कभी कभी इसकी आवश्यकता होती है। चेन्नई में लॉकडाउन मामले दोगुना होने के समय में इजाफा करने में सहायक साबित हुआ और संक्रमण में भी कमी लाने में मददगार रहा, लेकिन अकेले लॉकडाउन ही कोविड १९ का समाधान नहीं है और हम सदा के लिए लॉकडाउन लागू नहीं रख सकते हैं।

 

बैठक में विश्व स्वास्थ्य संगठन की प्रमुख वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन समेत अन्य विशेषज्ञों ने भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए हिस्सा लिया। सौम्या स्वामीनाथन ने कहा कि लॉकडाउन एक बहुत ही मानक, व्यापक हथियार था। यह एक बड़े कुल्हाड़ी से मच्छर को मारने जैसा है। लॉकडाउन ने निश्चित तौर पर वायरस में नियंत्रण किया है लेकिन अब अन्य विकल्पों पर ध्यान देने की आवश्यकता है। अगले छह महीने तक लॉकडाउन जारी रखने का कोई फायदा नहीं है।

Corona virus COVID-19 COVID-19 virus
Vishal Kesharwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned