कावेरी प्रबंधन बोर्ड की मांग को लेकर आगे आया तमिल फिल्म जगत

कावेरी प्रबंधन बोर्ड की मांग को लेकर आगे आया तमिल फिल्म जगत

Mukesh Sharma | Publish: Apr, 17 2018 10:27:07 PM (IST) Chennai, Tamil Nadu, India

राज्य में कावेरी प्रबंधन बोर्ड (सीएमबी) की मांग तेज होती जा रही है। साथ ही इससे जुडऩे वाली हस्तियों की फेहरिस्त भी लंबी होती जा रही है। यही नहीं, इस..

चेन्नई।राज्य में कावेरी प्रबंधन बोर्ड (सीएमबी) की मांग तेज होती जा रही है। साथ ही इससे जुडऩे वाली हस्तियों की फेहरिस्त भी लंबी होती जा रही है। यही नहीं, इस दौरान राजनीति से ऊपर उठकर मुद्दों के लिए साथ आने की बानगी भी देखने को मिल रही है। रविवार को वल्लूवरकोट्टम में बोर्ड की मांग के लिए तमिल फिल्म इंडस्ट्री के सितारे जुड़ते दिखे। राज्य के अलग-अलग तबकों के इस मुद्दे पर प्रदर्शन करने के बीच तमिल फिल्म जगत कूद पड़ा है।

नडिगर संगम, यानी एक्टर्स एसोसिएशन, वल्लुवरकोट्टम में इस मुद्दे को लेकर इक_ी हुई। एक्टर विजय, एम.नासर और विशाल प्रदर्शन स्थल पर सुबह ही पहुंच गए। बता दें कि 16 फरवरी को सुप्रीम कोर्ट के कर्नाटक के साथ पानी बांटने के फैसले के बाद राज्य में कावेरी प्रबंधन बोर्ड की मांग तेज होती जा रही है। वहीं अभिनेता से नेता बने रजनीकांत और कमल हासन अपने राजनीतिक विचारों को अलग रखकर इस प्रदर्शन में एक साथ खड़े हुए। वल्लुवर कोट्टम में रजनीकांत के साथ ही उनके दामाद और स्टार एक्टर धनुष और मशहूर संगीतकार इल्लयाराजा भी पहुंचे।

माना जा रहा है कि एक्टर्स एसोसिएशन के साथ आने से केंद्र सरकार को बड़ा संदेश देने की कोशिश की जा रही है कि यह मुद्दा केवल राजनीतिक नहीं बल्कि समाज का हर तबका इसके लिए खड़ा होने की जरूरत महसूस कर रहा है। बता दें कि इससे पहले राज्य में इस मुद्दे पर बंद का आयोजन भी किया गया था जो काफी सफल रहा था। बंद को समाज के लगभग हर तबके का समर्थन मिला था। किसान संगठन भी बोर्ड की मांग को लेकर प्रदर्शन करते रहे हैं। किसानों ने हाल ही तिरुचिरापल्ली में खुद को कावेरी नदी के तट पर जमीन में आधा गाडक़र प्रदर्शन किया था। वहीं विपक्षी पार्टियों ने पानी की समस्या को देखते हुए आईपीएल न कराने की मांग भी की थी। इस प्रदर्शन में अभिनेता अजीत, अर्जुन एवं प्रकाश राज शामिल नहीं हुए।

तमिलनाडु के कोप भाजन का शिकार होना पड़ेगा केंद्र को

केंद्र सरकार के खिलाफ स्वर मुखरित करते हुए सुपरस्टार रजनीकांत ने चेतावनी दी कि अगर वह सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार कावेरी प्रबंधन बोर्ड (सीएमबी) का गठन नहीं करती है तो उसे तमिलनाडु के जनता के गुस्से और रोष का सामना करना पड़ेगा।

पोएस गार्डन स्थित अपने आवास के बाहर रविवार को पत्रकारों से वार्ता में रजनीकांत ने केंद्र सरकार से मांग की कि वह अविलम्ब सीएमबी का गठन करे। उच्चतम न्यायालय के अंतिम फैसले में यह कावेरी प्रबंधन बोर्ड के गठन की बात स्पष्ट है। यदि केंद्र सरकार बोर्ड का गठन नहीं करती है तो उसे तमिलनाडु के असंतोष का सामना करना पड़ेगा।

ज्ञातव्य है कि रजनीकांत भी नई राजनीतिक पार्टी शुरू करने वाले हैं। इसकी घोषणा उन्होंने ३१ दिसम्बर २०१७ को चेन्नई में प्रशंसक मंडल की बैठक को संबोधित करते हुए की थी।
रजनीकांत ने कहा कि तमिलों की एक ही आवाज कावेरी प्रबंधन बोर्ड के गठन की है। सरकार को जनभावना का खयाल रखना चाहिए। कावेरी किसानों की जीवनरेखा है लेकिन केंद्र सरकार समय व्यर्थ कर रही है। हाल में भी उन्होंने ट्वीट कर सीएमबी के गठन की मांग की थी।

सीएसके लगाए काला बैज


रजनीकांत आईपीएल की पृष्ठभूमि में चेन्नई सुपरकिंग्स (सीएसके) से अनुरोध किया कि वह कावेरी जल विवाद पर तमिलनाडु की भावनाओं की कद्र करते हुए खेल के दौरान काला बैज अथवा कपड़ा लगाए। ताकि उनके जरिए पूरे देश को इस संवेदनशील मसले का पता चल सके। उनका यह भी कहना था कि जब पूरा तमिलनाडु कावेरी हक के लिए संघर्ष कर रहा है उस दौर में अगर यहां आईपीएल मैच का आयोजन नहीं होता है तो भी अच्छा है।

स्टरलाइट प्लांट अनावश्यक

सुपरस्टार ने स्टरलाइट प्लांट को तमिलनाडु के लिए गैरजरूरी बताया जबकि इससे राज्य को करोड़ों की आय हो सकती है। उनका कहना था कि हमें जमीन, जल व वायु को प्रदूषित होने से बचाना चाहिए। अगर पंचभूत में से एक भी तत्व बिगड़ा तो पूरी दुनिया नष्ट हो जाएगी।

Ad Block is Banned