विधानसभा चुनाव एआईएडीएमके व डीएमके के लिए एसिड टेस्ट की तरह: खुशबू

भाजपा नेता खुशबू ने कहा राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय जे. जयललिता और स्वर्गीय एम. करुणानिधि की उनुपस्थिति में राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी एआईएडीएमके

By: Vishal Kesharwani

Published: 11 Jan 2021, 06:00 PM IST


तिरुचि. भाजपा नेता खुशबू ने कहा राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय जे. जयललिता और स्वर्गीय एम. करुणानिधि की उनुपस्थिति में राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी एआईएडीएमके और मुख्य विपक्षी पार्टी डीएमके के लिए आगामी विधानसभा चुनाव एसिड टेस्ट की तरह साबित होगा। यहां पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा एआईएडीएमके के पास कई प्लस पॉइंट हैं क्योंकि राज्य की जनता राज्य के मुख्यमंत्री एडपाडी के. पलनीस्वामी के नेतृत्व वाली सरकार के खिलाफ किसी प्रकार की शिकायत नहीं करती है।

 

मुख्यमंत्री के खिलाफ एक भी नाकारात्मक कारक नहीं है, बल्कि राज्य की जनता सरकार से पूरी तरह से संतुष्ठ है। डीएमके युवा विंग के सचिव उदयनिधि स्टालिन पर महिलाओं के बारे में अपमानजनक टिप्पणी करने के लगे आरोपों पर उन्होंने कहा कि लोगों को अब समझ जाना चाहिए कि मैने किस कारण से पार्टी छोड़ा था। करुणानिधि के समय की डीएमके और अब के समय में बहुत ही अंतर हो चुका है। इससे पहले तंजावुर में पत्रकारों से बातचीत में खुशबू ने डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन के खिलाफ विस चुनाव लडऩे की अपनी तत्परता को दोहराया।

 

उन्होंने कहा कि पहले पता चले कि स्टालिन किस विस क्षेत्र से चुनाव लड़ेंगे। मै किसी के खिलाफ लडऩे के लिए हमेशा तैयार हूं। लेकिन मै चुनाव लडुंगी या नहीं यह स्पष्ट नहीं है। पी. चिदम्बरम की टिप्पणी, जिसमें उन्होंने कहा था कि खुशबू चार साल में एक बार पार्टी बदल देती हैं, पर प्रतिक्रिया करते हुए उन्होंने कहा चिदम्बरम जैसे लोग डर की वजह से मुझे पार्टी से निकालने तक की कोशिश किए थे।

Vishal Kesharwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned