भविष्य में एमबीबीएस में अतिरिक्त 1650 सीटें जोड़ी जाएंगी: सीएम

-250 बेडों की सुविधा के साथ फोर्टिस हेल्थकेयर का हुआ उद्घाटन

By: Santosh Tiwari

Published: 26 Oct 2020, 10:37 PM IST



चेन्नई. मुख्यमंत्री एडपाडी के. पलनीस्वामी ने सोमवार को कहा कि वर्ष 2010-11 में एमबीबीएस की 1945 सीटें थी, जो कि अब बढ़ कर 3400 हो चुकी हैं। आने वाले समय में राज्य के 11 न्यू सरकारी कॉलेजों में 1650 सीटों को जोड़ा जाएगा। ग्रामीण क्षेत्र और आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के विद्यार्थियों को उनका डॉक्टर बनने का सपना पूरा करने के उद्देश्य से राज्य सरकार ने काफी कम समय के अंदर केंद्र से राज्य के रामनाथपुरम, विरुद्नगर, दिंडीगुल, नीलगिरी, अरियलूर, नागपट्टिनम, कल्लकुरिचि, तिरुवल्लूर, तिरुपुर, नामक्कल और कृष्णगिरी समेत 11 जिलों में नए मेडिकल कॉलेज बनाने की मंजूरी प्राप्त की। मेडिकल कॉलेज के निर्माण के लिए आधारशीला रखी जा चुकी है और निर्माण कार्य भी तेजी से हो रहा है। इसके माध्यम से ही राज्य सरकार ने 1650 अतिरिक्त एमबीबीएस की सीटें बनाने की योजना बनाई है। वड़पलनी में फोर्टिस अस्पताल का उद्घाटन करने के बाद मुख्यमंत्री ने यह बात कही। उन्होंने कहा सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों के डॉक्टर बनने के सपने को सच करने के उद्देश्य से ही राज्य सरकार ने 7.५ प्रतिशत आरक्षण प्रदान करने को लेकर एक विधेयक पारित किया था। मेडिकल किसी प्रकार का व्यापार नहीं बल्कि एक कला है। राज्य के हेल्थकेयर में सरकार की उपलब्धियों की सूची जारी करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा पिछले साल शिशु मृत्यु दर 16 से 15 पहुंच गया था। इसके अलावा 254 न्यू प्राइमरी हेल्थ केयर (पीएचसी) स्थापित किए गए थे और 166 पीएचसी को अपग्रेड किया गया। पिछले तीन सालों के अंदर सरकारी अस्पतालों को 56 सीटी स्कैन मशीन, 22 एमआरआई स्कैन मशीन, 18 कैथ लैब और 530 डायलिसिस मशीन प्रदान किया गया। पलनीस्वामी ने कहा कि कैंसर की देखभाल बढ़ाने के लिए 190 करोड़ की लागत से राज्य के दस सरकारी अस्पतालों में लाइनर एक्सेलेटर लगाया गया। इसके अलावा 120 करोड़ की लागत से अडयार कैंसर इंस्टीट्यूट और कांचीपुरम में स्थित सरकारी अरिगनार अन्ना मेमोरियल कैंसर अस्पताल के अपग्रेड का कार्य भी हो रहा है। राज्य में सरकारी अस्पतलों के साथ निजी अस्पताल भी अच्छे से संचालित हो रहे हैं। इस मौके पर राज्य के स्वास्थ्य मंत्री सी. विजयभास्कर, स्वास्थ्य सचिव जे. राधाकृष्णन, प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी आशुतोष रघुवंशी समेत अन्य अधिकारी और नेता उपस्थित थे। 250 बेडों की सुविधा के साथ फोर्टिस हेल्थकेयर शहर का दूसरा मल्टीस्पेशालिटी अस्पताल है।

Santosh Tiwari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned