तमिलनाडु में 40 हजार करोड़ का विदेशी निवेश, 74 हजार लोगों को नौकरियां मिलेगी

कोविड-19 महामारी के दौरान तमिलनाडु में 40 हजार करोड़ का विदेशी निवेश
- 74 हजार लोगों को नौकरियां मिलेगी
- मुख्यमंत्री पलनीस्वामी ने जलीकट्टु प्रतिमा का किया अनावरण

By: Ashok Rajpurohit

Published: 22 Oct 2020, 07:53 PM IST

चेन्नई. तमिलनाडु में कोविड-19 महामारी के दौरान 40 हजार करोड़ का विदेश निवेश किया गया है। इससे 74 हजार लोगों को नौकरियां मिलेंगी। मुख्यमंत्री एडपाडी के.पलनीस्वामी ने यह जानकारी दी।
पुदुकोट्टै जिले में आईटीसी लिमिटेड की लोजिस्टिक इकाई का उद्घाटन के अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि 2020 में तमिलनाडु विदेशी निवेश आकर्षित करने में प्रथम स्थान पर रहा है। मुख्यमंत्री कोविड-19 की समीक्षा को लेकर एवं विकास कार्य देखने के लिए एक दिवसीय पुदुकोट्टै के दौरे पर थे।
आईटीसी सुविधा विरालिमल्लै तहसील में 55 एकड़ क्षेत्र में विकसित जा रही है जिस पर 1150 करोड़ का निवेश किया जाएगा। जब जयललिता तमिलनाडु की मुख्यमंत्री थी तब 2015 में पहली ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट में आईटीसी व राज्य सरकार के बीच एमओयू किया गया था।
80 फीसदी कर्मचारी महिला
इस सुविधा से 2200 ग्रामीण इलाके के लोगों को प्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिल सकेगा जबकि हजारों लोगों को अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा। कंपनी ने कहा कि 80 फीसदी महिला कर्मचारी होगी जो आसपास के गांवों से होगी।
जलीकट्टु प्रतिमा का अनावरण
बाद में मुख्यमंत्री ने विरालिमल्लै के कामराज नगहर में जलीकट्टु प्रतिमा का अनावरण किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार कावेरी-वैगै गुन्टर नदी लिंकिंग प्रोजेक्ट को क्रियान्वित करेगी। उन्होंने कहा कि यह प्रोजेक्ट पुदुकोट्टै के किसानों के लिए सपना था। जलीकट्टु प्रतिमा 4.85 लाख रुपए की लागत से स्थापित की गई है। कुंभकोणम के रवि ने इसकी डिजाइन तैयार की है।

Ashok Rajpurohit
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned