scriptTamil Nadu has over 2 lakh ponds and minor irrigation sources | तमिलनाडु में 2 लाख से अधिक तालाब और सिंचाई के छोटे स्रोत लेकिन केवल 90,000 ही उपयोग में | Patrika News

तमिलनाडु में 2 लाख से अधिक तालाब और सिंचाई के छोटे स्रोत लेकिन केवल 90,000 ही उपयोग में

locationचेन्नईPublished: Oct 03, 2022 08:45:08 pm

जलाशयों पर अतिक्रमण की मार

Tamil Nadu has over 2 lakh ponds and minor irrigation sources, but only 90,000 are in use now
Tamil Nadu has over 2 lakh ponds and minor irrigation sources, but only 90,000 are in use now
हाल के एक अध्ययन के अनुसार, तमिलनाडु में 2 लाख से अधिक तालाब और सिंचाई के छोटे स्रोत हैं, लेकिन अभी केवल 90,000 ही उपयोग में हैं। हालांकि जल संसाधन विभाग (डब्ल्यूआरडी) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि अतिक्रमण किए गए सभी जलाशयों को बहाल करना संभव नहीं है।
अधिकारी ने कहा कि अध्ययन से पता चला है कि अतिक्रमण, खराब रखरखाव और निर्माण के लिए भूमि के अवैध उपयोग से सिंचाई क्षमता के साथ लाखों हेक्टेयर का नुकसान हुआ है। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत टैंकों को बहाल करने के लिए डब्ल्यूआरडी केंद्रीय जल संसाधन विभाग के साथ काम कर रहा है।
अधिकारी ने कहा कि उन्होंने कोयंबत्तूर, सेलम और धर्मपुरी सहित कुछ जिलों में इस योजना के तहत 200 टैंकों को बहाल करने का प्रस्ताव रखा है। प्रशासनिक मंजूरी मिलने के बाद काम शुरू होगा। उन्होंने कहा कि जलाशयों को बनाए रखने और बहाल करने से भूजल स्तर में काफी सुधार होगा क्योंकि वर्तमान में अधिकांश पानी समुद्र में बहता है और बर्बाद हो जाता है। इससे बचने के लिए तमिलनाडु में छोटे टैंकों को अपग्रेड कर छोटे जलाशय बनाने की भी योजना है। इस संबंध में विभाग ने कुछ प्रस्ताव भेजे हैं। अधिकारी ने कहा कि उपलब्ध वित्त के आधार पर काम किया जाएगा।
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.