सर्वदलीय बैठक में केंद्र से कर्नाटक को मेकेडाटू पर बांध निर्माण की मंजूरी नहीं देने की अपील

मुख्यमंत्री एमके स्टालिन की अध्यक्षता में सोमवार को आयोजित हुई सर्वदलीय बैठक में केंद्र सरकार से कर्नाटक को मेकेडाटू बांध

By: Vishal Kesharwani

Published: 12 Jul 2021, 05:47 PM IST


चेन्नई. मुख्यमंत्री एमके स्टालिन की अध्यक्षता में सोमवार को आयोजित हुई सर्वदलीय बैठक में केंद्र सरकार से कर्नाटक को मेकेडाटू बांध निर्माण परियोजना की मंजूरी नहीं देने की अपील की गई। यहां राज्य सचिवालय में आयोजित बैठक में दो घंटे की चर्चा के बाद सर्वसम्मति से तीन प्रस्ताव पारित किए गए। एक प्रस्ताव में कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार निचले तटवर्ती राज्यों की मंजूरी के बिना मेकेडाटू में कोई निर्माण नहीं किया जाना चाहिए। ऐसे में कर्नाटक सरकार द्वारा आदेश के खिलाफ जाकर बांध निर्माण करने का प्रयास निंदनीय है।

 

कर्नाटक के इस प्रयास से राज्य के किसानों पर बुरा प्रभाव पड़ेगा। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के खिलाफ इस तरह का प्रयास संविधान के लिए एक चुनौती है। एक अन्य प्रस्ताव में विभिन्न रानजीतिक पार्टियों ने परियोजना को ठप करने के लिए राज्य सरकार के उपायों के लिए पूर्ण समर्थन और सहयोग व्यक्त किया। बैठक में कानूनी कदम उठाने और सभी आवश्यक प्रयासों के अलावा परियोजना के खिलाफ लोगों की भावनाओं को दर्शाते हुए केंद्र सरकार को प्रस्ताव पेश करने का निर्णय लिया गया।

 


उल्लेखनीय है कि हाल ही में एमके स्टालिन ने सर्वदलीय बैठक बुलाई थी। मुख्यमंत्री का यह निर्णय उस वक्त सामने आया था जब कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने दावा किया था कि बांध परियोजना को कोई भी नहीं रोक सकता है। इससे पहले पीएमके संस्थापक एस. रामदास ने राज्य सरकार से मेकेडाटू पर प्रस्तावित बांध निर्माण पर चर्चा करने के लिए सर्वदलीय बैठक बुलाने की मांग की थी, ताकि कर्नाटक को प्रस्ताव के साथ आगे बढऩे से रोका जा सके। रामदास ने कहा था कि कर्नाटक सरकार बांध बनाने को लेकर हर संभव प्रयास कर रही है और इस तरह के रवैये से अंतरराज्यीय संबंध खराब होंगे।

 

कुछ दिन पहले ही राज्य के जल संसाधन मंत्री दुरैमुरुगन ने कहा था कि सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार कावेरी नदी से पानी छोड़ा जाना चाहिए। केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत से मुलाकात करने के बाद पत्रकारों से बातचीत में दुरैमुरुगन ने कहा कर्नाटक को मेकेडाटू पर बांध निर्माण की योजना को रोकना चाहिए। इससे राज्य के किसानों को समस्याओं का सामना करना पड़ेगा।

Vishal Kesharwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned