केंद्र की मंजूरी के बाद अगले साल राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर डेटा किया जाएगा एकत्र

केंद्र सरकार की स्वीकृति के बाद राज्य सरकार द्वारा अगले साल राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) के लिए डेटा एकत्र करने की संभावना है

By: Vishal Kesharwani

Published: 21 Oct 2020, 04:46 PM IST


चेन्नई. केंद्र सरकार की स्वीकृति के बाद राज्य सरकार द्वारा अगले साल राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) के लिए डेटा एकत्र करने की संभावना है। कोरोना महामारी को रोकने के लिए गत मार्च से शुरू हुए लॉकडाउन की वजह से एनपीआर अभ्यास अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दिया गया था। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार केंद्र द्वारा जनवरी के बाद इस ओर घोषणा करने की उम्मीद है और उसके आधार पर राज्य में एनपीआर की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी।

 

शुरूआत में राज्य सरकार की मंजूरी लेते हुए इसे जून या जुलाई में शुरू करने की उम्मीद थी। लेकिन इस बार मोबाइल ऐप्प के माध्यम से लोगों का डेटा एकत्र कर एनपीआर के लिए अपडेट किया जाएगा। केंद्र कैविनेट ने देश भर में एनपीआर अपडेट करने के लिए 3,941.35 करोड़ और 2021 में जनगणना के लिए 8,754.२३ करोड़ की मंजूरी दी है। राज्य में चुने गए दो जिलों और एक नगरपालिका में पहले ही एक परीक्षण जनगणना की जा चुकी है। जिसमें निलगिरी जिले का कून्नूर तालुक, शिवगंगा जिले का इल्लयानगुड़ी तालुक और चेंगलपट्टू तालुक का मरैमालनगर नगरपालिका शामिल है।

Vishal Kesharwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned