तमिलनाडु 11वीं परीक्षा: 96.04 प्रतिशत विद्यार्थियों को मिली सफलता, कोयम्बत्तूर जिला का रहा बेहतरीन प्रदर्शन

- लड़कियों ने फिर मारी बाजी

By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 31 Jul 2020, 05:43 PM IST

चेन्नई.

आखिरकार कई महीनों के इंतजार के बाद तमिलनाडु के सरकारी परीक्षा निदेशालय (डीजीई) ने शुक्रवार को 11वीं परीक्षा का रिजल्ट जारी किया। परीक्षा में 96.04 प्रतिशत विद्यार्थियों ने सफलता पाई। इसके साथ ही लड़कियों ने लडक़ों को पछाड़ा भी है। लड़कियों का पास प्रतिशत 97.49 रहा, जबकि 94.38 प्रतिशत लडक़े सफल रहें।

परीक्षा में कुल 8.15 लाख से अधिक परीक्षार्थी बैठे थे, जिसमे लडक़ों की संख्या 379561 है और लडकियों की संख्या 435881 है। इनमें से 7.83 लाख परीक्षार्थियों ने सफलता पाई, जिसमें 358230 लडक़े और 424930 लडकियां शामिल है। वहीं इस वर्ष 2819 निशक्त बच्चे परीक्षा में बैठे जिसमें 2672 पास हुए। इनका पास प्रतिशत 94.8 रहा।

मालूम हो कि लॉकडाउन की वजह से रिजल्ट आने में विलंब हुआ। तमिलनाडु के स्कूल शिक्षा मंत्री सेंगोट्यान ने 11वीं परीक्षा के नतीजे घोषित होने की जानकारी दी। प्रदेश में कोयम्बत्तूर जिला अव्वल रहा, यहां 98.1 प्रतिशत छात्र-छात्राएं आगे रहें। इसके बाद विरुदनगर में 97.9 और करूर जिले में 97.5 प्रतिशत छात्र-छात्राएं सफल हुई।

वहीं इस वर्ष राज्य के 7249 स्कूलों में से 2716 स्कूलों का शत प्रतिशत रिजल्ट रहा है। यानी राज्य के 37.5 प्रतिशत स्कूलों ने शत प्रतिशत सफलता पाई है। इस वर्ष सरकारी स्कूल के अपेक्षा निजी स्कूल के विद्यार्थियों ने अच्छा प्रदर्शन किया है।

सरकारी स्कूल के 92.71 प्रतिशत विद्यार्थी पास हुए तो निजी स्कूल के 96.5 प्रतिशत बच्चे परीक्षा में सफलता पाई। वहीं विज्ञान के 96.33 प्रतिशत विद्यार्थियों ने सफलता हासिल की है, जबकि कॉमर्स के 96.28 प्रतिशत विद्यार्थियों ने पास हुए, वहीं आर्टस के 94.1 प्रतिशत विद्यार्थियों ने बाजी मारी है। प्रमुख विषयों में केमिस्ट्री के 99.95 प्रतिशत विद्यार्थी पास हुए है।

पिछले साल, 11वीं परीक्षा के लिए उपस्थित होने वाले छात्रों की संख्या 8,06,799 थी। बताया जा रहा है कि लडक़ों की संख्या 3,66,596 और लड़कियों की संख्या 4,35,176 थी। कुल पास प्रतिशत 95.0 प्रतिशत था। इसके साथ लडक़ों का पास प्रतिशत 93.3 प्रतिशत था जबकि लड़कियों का पास प्रतिशत 96.5 प्रतिशत था।

दरअसल, परीक्षा पास करने के लिए उम्मीदवारों को सभी विषयों में 100 में से कम से कम 35 नंबर लाने होते हैं। इसके अलावा, जिन विषयों में थ्योरी के 70 नंबर और प्रैक्टिकल के 30 नंबर हैं, उन विषयों में उम्मीदवारों को थ्योरी में 15 और कुल मिलाकर 35 स्कोर करने होंगे। अगले सप्ताह तक मैट्रिक का रिजल्ट आने की उम्मीद जताई जा रही है।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned