स्पेशल एसी ट्रेन का एक यात्री पॉजिटिव निकला तो पूरा बोगी के यात्री होंगे क्वारंटाइन

स्पेशल ट्रेन से आने वाले यात्रियों के लिए सख्त नियम

By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 16 May 2020, 08:01 PM IST

चेन्नई.

रेलवे ने देशभर में फंसे लोगों, पर्यटकों, छात्रों, तीर्थयात्रियों और जरूरतमंद लोगों को उनके घर तक पहुंचाने के लिए स्पेशल एसी ट्रेन की शुरूआत की है। तमिलनाडु सरकार ने साफ किया है कि स्पेशल एसी ट्रेनों से दिल्ली समेत किसी भी दूसरे राज्य से तमिलनाडु (विशेषकर चेन्नई) आने वाले लोगों को 14 दिन के होम वारंटाइन में निश्चित तौर पर रहना होगा। तमिलनाडु सरकार इसे सख्ती से लागू करवा रही हैं।

बोगी के यात्री होंगे क्वारंटाइन
मुख्य सचिव के. षणमुगम ने आदेश जारी किया जिसमें कहा गया है कि स्पेशल टे्रन से आने वाला एक भी यात्री कोरोना पॉजिटिव पाया जाता है तो उस बोगी के सभी यात्रियों को सात दिन तक सरकारी क्वारंटाइन सेंटर में रहने के बाद 14 दिनों तक घर में क्वारंटाइन में रहना होगा। उनका टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आने के बावजूद यह नियम लागू होंगे।

स्वैब सैंपल लिए जाएंगे
दिल्ली या देश के दूसरे राज्यों से आने वाले यात्रियों की जांच के लिए जांच काउंटर स्थापित किए थे, जहां उनका स्वैब सैंपल लिए जाएंगे। एक बोगी के सभी यात्रियों का सैंपल रिपोर्ट निगेटिव आता है तो ही उन्हें विशेष बस से उनके गणतव्य तक पहुंचाया जाएगा। घर पहुंचने के बाद उन्हें 14 दिनों तक सख्ती से क्वारंटाइन में रहना होगा।

787 यात्री आए
उन्होंने बताया कि चेन्नई सेंट्रल से यात्रियों को विशेष बसों से क्वांरटाइन सेंटर ले जाया जाएगा और रविवार तक के बाद उन्हें घर भेज दिया जाएगा। सरकारी आंकड़ों के अनुसार गुरुवार तक 787 यात्री चेन्नई पहुंचे। जिनमें से 523 यात्रियों को ओएमआर में दो निजी कॉलेज में बने क्वारंटाइन सेंटर ले जाया गया जबकि 264 यात्रियों ने अपने खर्चे पर होटल और लॉज में खुद को क्वारंटाइन कर लिया।

10 हजार कमरों की व्यवस्था
देश के अन्य राज्यों से चेन्नई लौटने वाले लोगों को क्वारंटाइन सुविधा के लिए ग्रेटर चेन्नई कॉर्पोरेशन ने होटल और लॉज में 10 हजार कमरों की व्यवस्था की है, जहां वे भुगतान कर खुद को क्वारंटाइन कर सकते हैं।

नगर निगम के एक अधिकारी ने बताया कि जो लोग सरकारी क्वारंटाइन सेंटर में रहना चाहते है उनके लिए हमने शैक्षणिक संस्थानों में क्वारंटाइन की व्यवस्था की है। अन्य राज्यों और देशों से लौटने वाले व्यक्तियों को अपने घरों में जाने से पहले सात दिनों तक अलगाव में रहना चाहिए। इससे पहले अलगाव की अवधि 28 दिन थी। अधिकारी ने कहा कि होटलों को ए, बी और सी श्रेणियों में सूचीबद्ध किया गया है, जिसमें प्रति दिन क्रमश: 2500 रुपए, 1100 रुपए और 800 रुपए निर्धारित हैं। इसमें भोजन भी शामिल है।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned