तमिलनाडु में अनलॉक सीजन में सडक़ हादसों में मरने वालों का बढ़ा ग्राफ

- तमिलनाडु में सडक़ हादसे घटे, मौतें बढ़ी

By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 30 Dec 2020, 04:25 PM IST

चेन्नई.

लॉकडाउन में अनलॉक की प्रक्रिया के बाद से तमिलनाडु में जुलाई-सितम्बर महीने में बढ़ी सडक़ दुर्घटनाओं में मरने वाले लोगों की संख्या बढ़ी है। आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2019 में सडक़ दुर्घटनाओं में 8250 लोगों की मौत हुई। सिर्फ सितम्बर महीने तक ही 5493 लोगों की जान गई।

परिवहन विभाग द्वारा तमिलनाडु में सडक़ दुर्घटना विश्लेषण पर गौर करें तो तमिलनाडु में इस वर्ष जनवरी से सितम्बर तक सडक़ हादसे कम हुए, लेकिन जुलाई से सितम्बर तक मौतों की संख्या बढ़ी। अनलॉक की प्रक्रिया में सितम्बर में सडक़ दुर्घटनाओं में 858 लोग मरे जबकि पिछले वर्ष इस महीने में 850 लोग मरे थे यानी लॉकडाउन में सडक़ दुर्घटनाएं कम नहीं हुई।

सितम्बर में अधिक मौतें
आंकड़ों के अनुसार गत सितम्बर में राज्य में हुई 4577 सडक़ दुर्घटनाओं में 805 घातक सडक़ दुर्घटनाएं हुई जिनमें 858 लोग मरे जबकि गत वर्ष इसी महीने में हुई 4626 सडक़ दुर्घटनाओं में 794 घातक सडक़ दुर्घटनाएं हुई जिनमें 850 लोगों की जान गई थी।

अप्रैल-जून तक कम हुई दुर्घटनाएं
कोरोना संक्रमण पर जाम के लिए गत मार्च से जारी लॉकडाउन के दौरान सडक़ दुर्घटनाएं कम देखने को मिली जिससे मरने वालों की संख्या भी घटी। लेकिन सितंबर में यह संख्या फिर बढऩे लगी। तमिलनाडु में इस वर्ष सितम्बर तक हुई 31098 सडक़ दुर्घटनाओं में 5493 लोगों की जान गई और 34,691 लोग घायल हुए। यानी पिछले वर्ष की तुलना में इस साल सडक़ दुर्घटनाओं में 29 प्रतिशत की कमी आई और सितम्बर महीने तक मृत्यु दर 33 प्रतिशत कम हुई।

लॉकडाउन की वजह से अप्रैल महीने में केवल 113 लोगों की ही मौत हुई जबकि गत वर्ष इस माह में 922 सडक़ दुर्घटनाओं में 922 लोग मरे थे। गत अप्रैल से जून तक पिछले साल के मुकाबले मौतों की संख्या घटी है, लेकिन लॉकडाउन में ढील देने के बाद सडक़ दुर्घटनाओं का सिलसिला फिर शुरू हो गया जिससे मौतों का ग्राफ बढऩे लगा। आंकड़ों के अनुसार मई में 472 और जून में 509 लोगों की मौत हुई थी लेकिन जुलाई में 622, अगस्त में 800 और सितम्बर महीने में 858 लोगों ने सडक़ हादसे में जान गंवाई।

सडक़ दुर्घटनाओं में चेन्नई अव्वल
राज्य में सडक़ दुर्घटनाओं में चेन्नई अव्वल है। यहां सितम्बर में 2999 सडक़ दुर्घटनाए हुई जिनमें 607 लोग मारे गए। कडलूर में 1752 सडक़ दुर्घटनाएं हुई और 305 लोग मरे। यही नहीं ईरोड, नीलगिरि, तंजावुर और तिरुवारुर जिलों में पिछले साल की तुलना में इस वर्ष अधिक मौतें हुई है।
------------
सडक़ दुर्घटनाओं में हुई मौतों का आंकड़ा : एक नजर
महीना         2019        2020
जनवरी         993           771
फरवरी          856           732
मार्च              928           610
अप्रैल            922            119
मई               954             472
जून               983            509
जुलाई           889            622
अगस्त         878           800
सितम्बर      850          858

*नोट : आंकड़े इस साल के सितम्बर तक।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned