21 साल की छात्रा बनीं सरपंच, 82 और 79 वर्ष की वृद्धाओं का कमाल

ग्रामीण निकाय चुनाव : कॉलेज छात्रा जे. संध्या रानी सरपंच चुनाव जीतकर सफलता की इबारत लिखने में कामयाब रहीं। 82 और 79 वर्ष की दो वृद्ध महिलाओं ने सरपंच चुनाव जीतकर सभी को चौंका दिया। पति सरपंच बना तो पत्नी उसी ग्राम पंचायत की सदस्य चुनी गई।

By: MAGAN DARMOLA

Published: 03 Jan 2020, 05:56 PM IST

चेन्नई. कृष्णगिरि जिले की 21 साल की कॉलेज छात्रा जे. संध्या रानी सरपंच चुनाव जीतकर सफलता की इबारत लिखने में कामयाब रहीं। वे सूलगिरि पंचायत यूनियन के तहत काटीनायकन तोट्टी ग्राम पंचायत के सरपंच चुनाव के लिए निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर मैदान में उतरीं। संध्या बीबीए फाइनल की छात्रा हैं। स्वतंत्र प्रत्याशी के रूप में कम उम्र में सरपंच बनकर उन्होंने बड़ी उपलब्धि हासिल की है।

नहीं डिगा हौसला : 82 और 79 वर्ष की उम्र में जीता सरपंच चुनाव

ग्रामीण निकाय चुनाव में 82 और 79 वर्ष की दो वृद्ध महिलाओं ने सरपंच चुनाव जीतकर सभी को चौंका दिया। तिरुपुर की 82 साल की विशालाक्षी इस आयु में सरपंच बनने वाली पहली महिला प्रत्याशी बन गई हैं। उनके अलावा मदुरै जिले के मेलूर तहसील की वीरम्माल भी इस सूची में है। इसके अलावा सफाई कर्मचारी सरस्वती ने भी सरपंच चुनाव जीतकर नई पहचान बनाई है।

दो बार चुनाव हारने के बाद 79 वर्षीय वृद्धा का हौसला डिगा नहीं और आखिर में वे सरपंच का चुनाव जीतकर इतिहास लिखने में कामयाब रहीं। यहां बात हो रही है अरिटापट्टी निवासी वीरम्माल की। मदुरै जिले के अरिटापट्टी ग्राम पंचायत चुनाव में उनको १९५ वोटों के अंतर से जीत मिली। दो बार पहले भी उन्होंने चुनाव लड़ा था लेकिन वे जीत नहीं सकी थी।

पति सरपंच और पत्नी सदस्य

कन्याकुमारी जिले के अगस्तीश्वरम पंचायत यूनियन के कुलशेखरपुरम ग्राम पंचायत के चुनाव में एक दम्पती को बड़ी कामयाबी मिली। एआईएडीएमके के समर्थन से पति सरपंच बना तो पत्नी उसी ग्राम पंचायत की सदस्य चुनी गई। घोषित नतीजे के तहत सूडलैपांडि ने ८३८ वोट हासिल कर जीत हासिल की। निकटतम प्रतिद्वंद्वी निर्दलीय प्रत्याशी सेल्वकुमार ४२३ वोटों के साथ रहे। इसी पंचायत के लिए उनकी पत्नी षणमुगवडीवू भी बतौर सदस्य चुनाव जीत गई।

4 वोटों से हारा पीएमके प्रत्याशी

सेलम के ओमलूर में पीएमके प्रत्याशी को मात्र चार वोटों के अंतर से हार का सामना करना पड़ा। उसे स्वतंत्र प्रत्याशी ने मात दी। पीएमके ने काडयम्बाड़ी पंचायत यूनियन के तीसरे वार्ड से मुन्नुसामी को उतारा था। उनको निर्दलीय प्रत्याशी वेडीअप्पन से चार वोटों के अंतर से शिकस्त मिली।

हथौड़े से तोड़ा मतपेटी का ताला

विरुदनगर. अरुप्पुकोट्टै में एसपीके बॉयज हायर सेकंडरी स्कूल में मतगणना शुरू होने से पहले मतपेटी खोलने के लिए हथौड़े का इस्तेमाल करना पड़ गया। यहां सुबह तहसीलदार की उपस्थिति में वोटों की गिनती शुरू हुई। सबसे पहले डाक मत गिने जाते थे जो एक बॉक्स में थे और इस पर ताला लगा था। लेकिन इस बॉक्स की चाबी नहीं मिलने से तनाव फैल गया। फिर तहसीलदार के निर्देश पर हथौड़े से ताला तोड़ा गया। इसमें कुल २७६ वोट थे।

MAGAN DARMOLA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned