तमिलनाडु तौहीद जमात ने कहा श्रीलंका की तौहीद जमात से कोई संबंध नहीं

तमिलनाडु तौहीद जमात ने कहा श्रीलंका की तौहीद जमात से कोई संबंध नहीं

P.S.Vijayaraghavan | Publish: Apr, 23 2019 09:50:35 PM (IST) | Updated: Apr, 23 2019 09:50:36 PM (IST) Chennai, Chennai, Tamil Nadu, India

श्रीलंका रविवार को एक के बाद एक आठ हुए बम धमाकों में कई चर्चों सहित फाइव स्टार होटलों को निशाना बनाया गया।

चेन्नई. श्रीलंका रविवार को एक के बाद एक आठ हुए बम धमाकों में कई चर्चों सहित फाइव स्टार होटलों को निशाना बनाया गया। किसी भी आतंकी संगठन ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है लेकिन घटना के बाद से ही श्रीलंका स्थित नेशनल तौहीद जमात संगठन का नाम सामने आ रहा है जो एक इस्लामिक संगठन है औ उसका एक धड़ा भारत के तमिलनाडु में भी सक्रिय है। इसका नाम आतंकी घटनाओं से जुड़ता रहा है।


चेन्नई में तमिलनाडु तौहीद जमात के महासचिव ई. मोहम्मद ने कहा है कि यह एक अराजनैतिक इस्लामिक संगठन है जिसका नेशनल तौहीद जमात से कोई लेने देना नहीं है। तमिलनाडु तौहीद जमात और श्रीलंका नेशनल तौहीद जमात एक दूसरे की सहयोगी हैं।

इस संगठन का गठन साल 2003 में तमिलनाडु में हुआ था जो सामाजिक कार्य जैसे रक्तदान, आपदा राहत आदि करता है। वहीं श्रीलंका तमिल जमात के अध्यक्ष अब्दुल गफ्फार हाशिम का कहना है कि हम सामाजिक कार्यों में तमिलनाडु तौहीद जमात का सहयोग करते हैं और आतंक के खिलाफ अभियान चलाते हैं यानी एक ओर तमिलनाडु वाले संगठन का कहना है कि उसका श्रीलंका के संगठन से कोई लेने देना नहीं है वहीं दूसरी ओर श्रीलंका स्थित संगठन का कहना है कि वह कई कार्यों में तमिलनाडु वाले संगठन का सहयोग करता है।


हाशिम का कहना है, हमारे किसी भी सदस्य को पूछताछ के लिए नहीं ले जाया गया और न ही किसी को गिरफ्तार किया गया है। श्रीलंका में कई इस्लामी संगठन हैं। इन सभी संगठनों के नाम से तौहीद शब्द जुड़ा हुआ है जिसका मतलब होता है एक ईश्वर। इसे आतंकी संगठन इस्लामी कट्टरपंथी के तौर पर इस्तेमाल करते हैं।


तमिलनाडु नेशनल तौहीद जमात के स्टेट प्रेसिडेंट एम शमशुल्लाह का कहना है कि उनका संगठन मुसलमानों को प्रभावित करने वाले मुद्दों पर तमिलनाडु में शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन करने पर ध्यान केंद्रित करता है। नेशनल तौहीद जमात का सहयोग करने के आरोप लगने के बाद तमिलनाडु तौहीद जमात के सदस्यों ने किसी भी तरह के संबंध से साफ इनकार कर दिया है। उनका कहना है कि उनकी वर्तमान विचारधाराएं पहले की विचारधाराओं से भिन्न हैं।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned