Tamilnadu कुरिंजीपाडी तालुक में कोथवाचेरी झील का पुनरुद्धार शुरू

Tamilnadu कुरिंजीपाडी तालुक में कोथवाचेरी झील का पुनरुद्धार शुरू
Tamilnadu कुरिंजीपाडी तालुक में कोथवाचेरी झील का पुनरुद्धार शुरू

Dhannalal Sharma | Updated: 11 Oct 2019, 09:12:27 PM (IST) Chennai, Chennai, Tamil Nadu, India

स्थानीय विधायक (MLA) एमआरके पन्नीरसेल्वम के आग्रह (Request) और कडलूर जिला प्रशासन द्वारा अनुशंसित, एनएलसीआईएल प्रबंधन (Official) ने इस झील का पुनरुद्धार करने के लिए 3.08 करोड़ रुपए आवंटित किए हैं।

एनएलसी द्वारा कडलूर जिले के कुरिंजीपाडी तालुक स्थित कोथवाचेरी झील का पुनरुद्धार किया जा रहा है। इसकी गाद निकालने के कार्य की शुरुआत एनएलसीआईएल के निदेशक (एचआर) आर. विक्रमण ने की। इस अवसर पर उन्होंने बताया एनएलसी इंडिया लिमिटेड अपने सीएसआर फंडों में से तीन चौथाई को सिंदूर जिले में विभिन्न सामुदायिक विकास कार्यों के लिए आवंटित कर रहा है।

2500 किसान होंगे लाभान्वित
अंग्रेजों द्वारा 113 साल पहले बनाया गया कुरिंजीपाडी तालुक में कोथवाचेरी झील सबसे बड़ा जलस्रोत है, जो 166 एकड़ में फैला हुआ है और करीब 354 हेक्टेयर कृषि भूमि की सिंचाई करता है। इसके माध्यम से लगभग 2500 किसान लाभान्वित होते हैं।

आवंटित हुए 3.08 करोड़
स्थानीय विधायक एमआरके पन्नीरसेल्वम के आग्रह और कडलूर जिला प्रशासन द्वारा अनुशंसित, एनएलसीआईएल प्रबंधन ने इस झील का पुनरुद्धार करने के लिए 3.08 करोड़ रुपए आवंटित किए हैं। सीएसआर विभाग के माध्यम से किए जा रहे इस झील की 1 करोड़ 90 लाख क्यूबिक फीट की खुदाई कर गहरा किया जाएगा और खुदाई की मिट्टी का उपयोग करके इसकी पाल की ऊंचाई बढ़ाई जाएगी, जिससे पाल को भी मजबूती मिलेगी। इसके अलावा जहां आवश्यक होगा स्लुइस गेट और शटर बदले जाएंगे।

बच गया पानी समुद्र में जाने से
विक्रमण ने बताया कि एनएलसीआईएल ने पिछले 5 वर्षों में कडलूर जिले में स्थित जल निकायों को गहरा करने पर करोड़ों रुपए खर्च कर चुका है। इस वजह से बारिश का पानी बहकर जाने के बजाय झीलों, तालाबों एवं जल निकायों में ही रुक जाता है।

उपस्थित थे अनेक अधिकारी व अन्य
इस मौके पर एनएलसीआईएल के आर. मोहन (सीजीएम/सीएसआर ), वी. रामचंद्रन, (जीएम / सीएसआर/ एनएलसीआईएल), समेत अनेक वरिष्ठ अधिकारी, टीएन लोक निर्माण विभाग के अधिकारी और स्थानीय लोगों ने भाग लिया।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned