इस गर्मी टैंकर का पानी लेने वालों को देनी होगी 30 प्रतिशत अधिक राशि

महानगर के सभी जलाशयों में पर्याप्त पानी है और मेट्रो वाटर ने पाइप की आपूर्ति को 650 मिलियन लिटर से बढ़ा कर 830 एमएलडी भी कर दिया है

By: Vishal Kesharwani

Published: 05 Mar 2021, 07:38 PM IST


चेन्नई. महानगर के सभी जलाशयों में पर्याप्त पानी है और मेट्रो वाटर ने पाइप की आपूर्ति को 650 मिलियन लिटर से बढ़ा कर 830 एमएलडी भी कर दिया है, लेकिन ईंधन की कीमतों में हुई वृद्धि की वजह से गर्मी में लोगों को टैंकर के पानी के लिए 30 प्रतिशत अधिक का भुगतान करना होगा। पत्रकारों से बातचीत में तमिलनाडु निजी वाटर टैंकर लॉरी एसोसिएशन के सदस्य एम. मणिमरन, जो रेडहिल्स जलाशय के जलापूर्ति प्रभारी भी हैं, ने बताया कि टैंकर पानी की मूल्य में 30 प्रतिशत तक की वृद्धि दर्ज की जाएगी। पेट्रोल और डीजल की कीमतों में हुई वृद्धि की वजह से लंबी दूरी की डिलवरी में अधिक भुगतान करना होगा।

 

15 लिटर पॉट की कीमत में एक और 20 लिटर के पॉट की कीमत में दो रूपए की वृद्धि होगी। मदुरैवालय, पेरम्बुर, मोग्गपैर, तिरु नगर और अन्नानगर समेत अन्य इलाके के लोग पॉट के पानी पर निर्भर होते हैं। एसोसिएशन सचिव एस. मुरुगन ने बताया कि बेहतर भूजल तालिका और मेट्रोवाटर आपूर्ति के कारण आवासीय क्षेत्रों में मांग घट रही है, लेकिन व्यवसायिक प्रतिष्ठान और उद्योग अभी भी टैंकर के पानी पर ही निर्भर हैं। इस साल उन सभी को पेट्रोल की कीमत में हुई वृद्धि के कारण अधिक राशि का भुगतान करना होगा।

 

इसके तहत राशि 300 तक पहुंच सकती है। इसके अलावा 1200 लिटर की लॉरी का दाम 800 की जगह 2 हजार हो सकती है। फेडरेशन ऑफ ओएमआर रेसिडेंस एसोसिएशन के सह संस्थापक हर्षा कोडा ने बताया कि मुख्य जगहों पर ही पाइप से पानी की आपूर्ति हो रही है। लेकिन ओएमआर और पास के अन्य इलाके के लोग अभी भी टैंकर की पानी पर ही निर्भर हैं। इस र्ईंधन बढोतरी से हर चीज पर असर पड़ेगा, क्योंकि रखरखाव की लागत बढ़ जाएगी।

Vishal Kesharwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned