आध्यात्मिक मेले की शुरुआत

प्रजापिता ब्रह्मकुमारीज ईश्वरीय विश्वविद्यालय की ओर से वल्लुवरकोट्टम में आध्यात्मिक मेले की शुरुआत शुक्रवार को की गई। यह मेला 14 फरवरी तक चलेगा।

By: मुकेश शर्मा

Published: 10 Feb 2018, 05:26 AM IST

चेन्नई।प्रजापिता ब्रह्मकुमारीज ईश्वरीय विश्वविद्यालय की ओर से वल्लुवरकोट्टम में आध्यात्मिक मेले की शुरुआत शुक्रवार को की गई। यह मेला 14 फरवरी तक चलेगा। यह मेला सुबह 8.00 बजे से शाम 8.00 बजे तक चलेगा। संस्थान इस साल बड़े पैमाने पर शिवरात्रि का भी आयोजन कर रहा है। पहली बार 12 ज्योतिर्लिंग तथा अमरनाथ आइस ***** वल्लुरकोट्टम में स्थापित किया गया है। ब्रह्मकुमारी इस साल 82वां साल मना रहा है। इस दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किया जाएगा।

फायर व रेस्क्यू सेवा कर्मियों ने जीते बत्तीस पुरस्कार

तमिलनाडु फायर एवं रेस्क्यू सेवा के 25 कर्मियों ने राष्ट्रीय विभाग स्तरीय स्पोर्ट्स मीट में 32 पुरस्कार जीते हैं। पुरस्कार जीतने वालों में डिप्टी डायरेक्टर (मुख्यालय) मीनाक्षी विजयकुमार भी शामिल हैं। स्पोर्ट्स मीट का आयोजन नेशनल फायर सर्विस कालेज नागपुर में किया गया था।


देशभर से इस खेल आयोजन में 67 टीमों ने भाग लिया था। तमिलनाडु फायर एवं रेस्क्यू सेवा के 49 अधिकारियों की एक टीम इसमें शामिल हुई थी। डिप्टी डाइरेक्टर ने पांच पुरस्कार जीते। इसमें एथलेटिक्स 100 मीटर में तीन स्वर्ण पदक भी शामिल हैं। इसके अलावा थ्रो बाल, बैडमिंटन तथा टेबल टेनिस तथा लंबी कूद में पुरस्कार जीते गए हैं। अन्य अधिकारियों और कर्मियों ने भी ऊंची कूद, लंबी कूद तथा एथलेटिक्स में पुरस्कार जीते।

न्यूट्रीनो परियोजना को लागू करना तेनी जिले के लोगों के साथ धोखा

आर. के. नगर विधायक टीटीवी दिनकरण ने तेनी जिले में प्रस्तावित न्यूट्रीनो परियोजना का शुक्रवार को सख्ती से विरोध कर कहा इससे जिले के वातावरण और लोगों पर बुरा असर पड़ेगा। पत्रकारों से वार्ता में जब उनसे इस परियोजना के बारे में पूछा गया तो वे बोले अब तक तो पश्चिमी घाट पर ऐसी परिस्थिति नहीं बनी है। लेकिन न्यूट्रीनो परियोजना लागू होने पर आबोहवा बिगड़ जाएगी। अगर राज्य सरकार इस परियोजना की अनुमति देती है तो यह तेनी जिले के लोगों के साथ बहुत बड़ा अन्याय होगा।


विपक्षी दल में होने की वजह से मंै ऐसा नहीं कह रहा लेकिन लोगों द्वारा जिस परियोजना का विरोध किया जा रहा हो उसे लागू करना लोगों को मारने के समान है। इससे पहले कांग्रेस के पूर्व विधायक सी. ज्ञानशेखरन, जो वर्ष २०१६ में एआईएडीएमके में शामिल हो गए थे, ने दिनकरण से मुलाकात कर अपना समर्थन दिया। संवाददाताओं से बातचीत में उन्होंने कहा आने वाले समय में दिनकरण अकेले ही एआईएडीएमके का नेतृत्व करेंगे।

मुकेश शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned