पौध तैयार करने के लिए कपड़े की थैली है कारगर

कई युवा अपने स्तर पर प्लास्टिक का विकल्प तलाश रहे हैं

By: Arvind Mohan Sharma

Published: 24 Jul 2018, 02:28 PM IST

कोयम्बत्तूर. राज्य सरकार ने तो आदेश जारी कर पॉलीथिन के उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया पर इसके विकल्प के बारे में प्रशासन के स्तर पर ज्यादा काम नहीं हो रहा।लेकिन कई युवा अपने स्तर पर प्लास्टिक का विकल्प तलाश रहे हैं। उन्हें सफलता भी मिल रही है। ऐसे ही एक युवक शिवशंकर ने सोमवार को नगर निगम के आयुक्त को कपड़े से तैयार किया बैग दिया। जो नर्सरियों में पौधे तैयार करने के लिए बेहतर विकल्प है। अभी तक नर्सरियों में प्लास्टिक की थैलियों में ही पौध तैयार की जाती है। पालमेडु निवासी शिव शंकर ने बताया कि कपड़े के बैग को पौधे के वजन और आकार के अनुसार डिजाइन किया गया है। उसके पास विभिन्न आकारों में बैग उपलब्ध हैं और कीमत 3 रुपये से 5 रुपये के बीच है। उन्होंने कहा कि हम एक ओर पौधे लगा रहे है और दूसरी ओर जिस थैली में पौधा लाए हैं उस प्लास्टिक को भी जमीन के हवाले कर रहे हैं। फिर पर्यावरण संरक्षण कैसे होगा। आयुक्त विजय कार्तिकेयन ने शिवशंकर के प्रयास की प्रशंसा की और कहा कि प्लास्टिक थैली के विकल्प के रुप में इस अपनाने के बारे में प्रचार किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि कोय बत्तूर में पहले भी कई युवकों ने नारियल के रेशों और खोल से बनाए उत्पाद प्लास्टिक के विकल्प के रुप में ईजाद किए हैं।

 


तिरुपुर. होजरी सिटी तिरुपुर में साध्वी प्रियवंदा , शुद्धाजना, योगांजना, प्रमुदिता, संवेगप्रिया, मननप्रिया का चातुर्मास प्रवेश हर्षोल्लास से हुआ। इस अवसर पर श्री पाश्र्व कुशल जैन सेवा ट्रस्ट के तत्वावधान में सुबह 9 बजे सकल जैन समाज के साथ सुविधिनाथ जैन मंदिर से शोभायात्रा निकाली गई। शोभायात्रा में शहर की अनेक मंडलों की महिलाएं मंगल कलश लिए साध्वीवंद के प्रवेश पर अभिनंदन करती हुई जुलूस की अगवानी कर रही थी। बैंड- बाजे के साथ युवा नाचते- जयकारे लगाते चल रहे थे। नगर के विभिन्न मार्गो से होते हुए शोभायात्रा गुजराती कल्याण मंडपम हॉल में आकर धर्मसभा में परिवर्तित हुई। यहां मांगलिक व प्रवचन का आयोजन हुआ। ट्रस्ट के पदाधिकारियों ने साध्वीवृंद का स्वागत किया। इस अवसर पर सूरत,इंदौर चेन्नई, बैंगलोर, ईरोड,सेलम, मदुरै, कोय बतूर आदि शहरों से बड़ी सं या में श्रद्धालु शामिल हुए। धर्म सभा में ट्रस्ट मण्डल के बाबूलाल सिंघवी, रतनलाल बोथरा, सोहनलाल बोथरा, रतनलाल सेठिया, ट्रस्ट के सदस्य और समाजबंधु मौजूद थे। संचालन दिनेश बोथरा व अरविंद कोठारी ने किया गया।

Arvind Mohan Sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned