चेन्नई में तिरुपति के लोकसभा सांसद दुर्गा प्रसाद राव का कोविड-19 से निधन, पीएम मोदी ने जताया दुख

सीएम जगन ने जताया शोक

By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 16 Sep 2020, 08:46 PM IST

चेन्नई.

आंध्र प्रदेश में तिरुपति के सांसद बल्ली दुर्गा प्रसाद राव का बुधवार शाम चेन्नई के निजी अस्पताल में निधन हो गया। युवजन श्रमिक रायथू कांग्रेस पार्टी (वाईएसआर) के नेता की मौत कोरोना वायरस संक्रमण के चलते हुई है। सांसद बल्लि दुर्गा प्रसाद के कोरोना संक्रमित होने पर अपोलो अस्पताल में भर्ती किया गया था। चिकित्सा के दौरान दिल का दौरा पडऩे से आखिरी सांस ली। उनके निधन पर मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने गहरा शोक व्यक्त किया।

बल्लि दुर्गाप्रसाद उम्र की 28 साल में पहली बार विधायक बने। उन्होंने नेल्लूर जिले के गुडुरू निर्वाचन क्षेत्र से विधायक पद का चुनाव चार बार जीता और एक बार मंत्री बने। दुर्गाप्रसाद राव का पुश्तैनी घर नेल्लूर जिला, वेंकटगिरी है। उन्होंने वर्ष 1985 में अपना राजनीतिक करियर शुरु किया। वर्ष 1994 में चंद्रबाबू के कैबिनेट में शिक्षा मंत्री थे। तत्पश्चात वर्ष 2019 के चुनाव में वाईएसआरसीपी में शामिल हुए और तिरुपति से सांसद बने।

तिरुपति के सांसद दुर्गा प्रसाद राव के निधन पर मोदी ने जताया शोक
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आंध्र प्रदेश के लोकसभा सांसद बल्ली दुर्गा प्रसाद राव के निधन पर बुधवार को शोक प्रकट किया और कहा कि अपने प्रदेश के विकास में उन्होंने प्रभावी योगदान दिया। मोदी ने ट्वीट कर कहा, ‘‘लोकसभा के सांसद बल्ली दुर्गा प्रसाद राव के निधन से दुखी हूं। वह एक अनुभवी नेता थे जिन्होंने आंध्र प्रदेश के विकास में प्रभावी भूमिका निभाई। दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिजनों और हितैषियों के साथ है। ओम शांति।''

मुख्यमंत्री ने दुर्गाप्रसाद राव के बेटे को फोन पर बात की और सांसद के परिवार के सदस्यों को सांत्वना दी। सांसद दुर्गाप्रसाद राव के निधन पर तिरुपति के विधायक भुमना करुणाकर रेड्डी ने भी शोक व्यक्त किया। उन्होंने बताया कि सांसद की निधन से पार्टी को क्षति पहुंची। दुर्गाप्रसाद ने तिरुपति के विकास में अपनी पहचान बना ली। भुमना ने दुर्गाप्रसाद राव के परिवार के सदस्यों को सांत्वना दी।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned