82 दिनों बाद तिरुपति बालाजी के हुए दर्शन, हर दिन 6000 श्रद्धालुओं को ही दर्शन प्राप्त हो पाएंगे

8 जून से मंदिर के कपाट खुल गए थे, लेकिन ट्रायल के लिए सिर्फ तिरुमला तिरुपति देवस्थानम (टीटीडी) के कर्मचारियों को ही दर्शनों की अनुमति दी गई थी

By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 11 Jun 2020, 09:36 PM IST

चेन्नई.

आंध्र प्रदेश के तिरुपति के तिरुमला पर्वतों पर स्थित विश्व प्रसिद्ध भगवान बालाजी मंदिर के कपाट गुरुवार से एक बार फिर खुल गए हैं। 20 मार्च से 82 दिनों तक कोरोना संक्रमण की वजह से बंद रहने के बाद 11 जून (गुरुवार) से आम श्रद्धालुओं के लिए मंदिर के कपाट खुल गए हैं।

दरअसल, केंद्र के दिशा-निर्देशों के अनुसार 8 जून से मंदिर के कपाट खुल गए थे, लेकिन ट्रायल के लिए सिर्फ तिरुमला तिरुपति देवस्थानम (टीटीडी) के कर्मचारियों को ही दर्शनों की अनुमति दी गई थी, जबकि तिरुपति में रह रहे स्थानीय लोगों के लिए 10 जून को कपाट खोले गए। आम श्रद्धालुओं के लिए इन 3 दिनों के ट्रायल के बाद 11 जून से कपाट खुले।

सोशल डिस्टेंसिंग का पालन
इस दौरान मंदिर में सभी श्रद्धालुओं को 6 फीट की दूरी बनाए रखने के निर्देश दिए गए हैं। फर्श पर मार्क किए गए हैं। यही नहीं, ज्यादा से ज्यादा 300 लोगों को ही एक घंटे में दर्शन प्राप्त करने की अनुमति होगी। सुबह साढ़े ६ बजे से शाम 7 तक ही दर्शन हो सकेंगे।

अगर श्रद्धालुओं को दर्शन के लिए इंतजार करना पड़ा तो वेटिंग हॉल में 100 लोगों को ही रखा जाएगा। यहां तक कि हुंडी में पैसे डालने से पहले भी हर्बल सैनिटाइजर का इस्तेमाल करना होगा।

बसों का चलना
तिरुमला पर्वत के नीचे यानी अलिपिरी जहां से मंदिर इलाके का पहला प्रवेश द्वार है, वाहनों को चेक कर आईडी कार्ड देखकर छोड़ा जा रहा है। पर्वत के नीचे से श्रद्धालुओं के लिए आरटीसी बसें चलने लगी है। लोग सोशल डिस्टेंसिंग बनाये रखकर बस में चढ़ रहे हैं और बसों में भी दूरियों को ध्यान में रखकर सीट पर बैठाया जा रहा है। बसों का संचालन 8 जून से ही शुरू कर दिया गया था।

नहीं मिलेंगे वीआईपी पास
हर दिन 6000 से 7000 श्रद्धालुओं को ही दर्शन प्राप्त हो पाएंगे। आम दिनों में 70000 से ज्यादा लोग दर्शन किया करते थे। इन 6000 टिकटों में से 3000 टिकट्स ही ऑनलाइन मिल पाएंगी। एक टिकट की कीमत 300 रुपए होगी

Show More
PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned