scriptTN doctors want education institutions to shift to online mode amid Om | ओमिक्रॉन का खतरा: तमिलनाडु के डॉक्टरों ने शिक्षण संस्थानों को ऑनलाइन मोड में जाने की सिफारिश की | Patrika News

ओमिक्रॉन का खतरा: तमिलनाडु के डॉक्टरों ने शिक्षण संस्थानों को ऑनलाइन मोड में जाने की सिफारिश की

तमिलनाडु सरकार के डॉक्टर्स एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री एमके स्टालिन से अनुरोध किया कि सभी स्कूल और कॉलेज की कक्षाएं पूरी तरह से ऑनलाइन आयोजित की जाएं।

चेन्नई

Published: December 27, 2021 05:42:39 pm

चेन्नई.

साल 2021 में अब कुछ ही दिन रह गए हैं। वहीं नए साल के पहले कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन का खतरा भी बढ़ गया है। कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन तेजी से भारत में फैलते जा रहा है। अबतक यह कुल 116 देशों में फैल चुका है। वहीं भारत में ओमिक्रॉन के 578 मामले मिल चुके हैं। इस बीच तमिलनाडु सरकार के डॉक्टर्स एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री एमके स्टालिन से अनुरोध किया कि सभी स्कूल और कॉलेज की कक्षाएं पूरी तरह से ऑनलाइन आयोजित की जाएं।

Tamilnadu doctors want education institutions to shift to online mode amid Omicron scare
Tamilnadu doctors want education institutions to shift to online mode amid Omicron scare

एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ के सेंथिल ने मुख्यमंत्री को लिखे एक पत्र में कहा कि कोविड-19 का ओमिक्रॉन संस्करण एक सुपर स्प्रेडर है जो पहले के डेल्टा वेरिएंट की तुलना में चार गुना तेजी से फैलता है। उन्होंने कहा कि ऑफलाइन कक्षाओं में भाग लेने वाले स्कूल और कॉलेज के छात्र सुपर स्प्रेडर्स के रूप में कार्य करेंगे और इससे बचने के लिए कक्षाओं को ऑनलाइन मोड में ले जाना चाहिए।

डॉक्टरों के समूह ने कहा कि अब सीमा लगाने का सबसे अच्छा क्षण है क्योंकि वैरिएंट तेजी से फैलता है और यदि जल्द ही कार्रवाई नहीं की जाती है, तो बहुत देर हो जाएगी और बीमारी बड़ी संख्या में लोगों में फैल जाएगी। एसोसिएशन ने यह भी कहा कि वर्तमान स्वास्थ्य प्रणाली संक्रमण फैलने पर बीमारी के महत्वपूर्ण प्रसार को संभालने में सक्षम नहीं हो सकती है, और सरकार से हस्तक्षेप करने का आग्रह किया।

डॉक्टर संघ ने रिपोर्ट में कहा कि सोशल दूरी , मास्किंग और सैनिटाइजर के उपयोग के साथ-साथ साबुन से बार-बार हाथ धोने का अभ्यास लगातार किया जाना चाहिए और इनमें से किसी में भी कोई सुस्ती नहीं दिखाई जानी चाहिए। बीमारी के प्रसार से बचने के लिए समूह ने मुख्यमंत्री से शादियों, धार्मिक उत्सवों और मृत्यु शोक और अंत्येष्टि में उपस्थिति सहित सभी प्रकार की सभाओं पर रोक लगाने के लिए कहा।

पाबंदियां लगाने पर करें विचार
नए साल के जश्न और त्योहारों के दौरान भीड़ पर रोकथाम के लिए पाबंदियां लगाने पर राज्य सरकार विचार करें। क्रिसमस के बाद नया साल, फिर मकर संक्रांति यह सब त्योहार कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को बढ़ावा दे सकती हैं, क्योंकि इस दौरान लोग एक जगह जमा होकर त्योहार मनाते हैं। इसलिए यह त्योहार कोरोना के नए वैरिएंट को कहर बरपाने का मौका दे सकती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Cash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतहो जाइये तैयार! आ रही हैं Tata की ये 3 सस्ती इलेक्ट्रिक कारें, शानदार रेंज के साथ कीमत होगी 10 लाख से कमइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजमां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतShani: मिथुन, तुला और धनु वालों को कब मिलेगी शनि के दशा से मुक्ति, जानिए डेटइन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीराजस्थान में आज भी बरसात के आसार, शीतलहर के साथ फिर लौटेगी कड़ाके की ठंडPost Office FD Scheme: डाकघर की इस स्कीम में केवल एक साल के लिए करें निवेश, मिलेगा अच्छा रिटर्न
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.