लॉकडाउन में तमिलनाडु को हुआ 35 हजार करोड़ के राजस्व का नुकसान: पलनीस्वामी

माल एवं सेवा कर (जीएसटी) से होने वाले राजस्व में 35 हजार करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है।

By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 23 May 2020, 05:53 PM IST

चेन्नई.

कोरोना वायरस महामारी की रोकथाम के लिए लागू लॉकडाउन तथा अन्य उपायों के कारण तमिलनाडु को माल एवं सेवा कर (जीएसटी) से होने वाले राजस्व में 35 हजार करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। मुख्यमंत्री के. पलनीस्वामी ने शनिवार को यह कहा।

विकास की योजनाएं प्रभावित नहीं
हालांकि, उन्होंने कहा कि इसके कारण विकास की योजनाएं प्रभावित नहीं होंगी। उन्होंने वित्त विभाग का हवाला देते हुए कहा कि लॉकडाउन के कारण मार्च के आखिरी सप्ताह, अप्रैल और मई में राज्य को अनुमानित रूप से 35,000 करोड़ रुपए के जीएसटी राजस्व का नुकसान हुआ है। उन्होंने अधिक जानकारी दिए बिना संवाददाताओं से कहा कि स्थिति को संभालने के लिए विभिन्न उपाय किए गए हैं, लेकिन वे विकास की योजनाओं को प्रभावित नहीं करेंगे क्योंकि ये योजनाएं रोजगार सृजन सुनिश्चित करती हैं।

आगे की रणनीति
तमिलनाडु सरकार ने राज्य में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए राष्ट्रीय लॉकडाउन से एक दिन पहले ही यानी 24 मार्च को लॉकडाउन लागू किया था। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के चौथे चरण के बाद केंद्र सरकार आगे के लिए क्या तय करती है, राज्य उस पर गौर करेगा।

सामुदायिक संक्रमण नहीं
लॉकडाउन का चौथा चरण 31 मई को समाप्त हो रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार चिकित्सा क्षेत्र के विशेषज्ञों से भी परामर्श करेगी। उन्होंने खेती और औद्योगिक क्षेत्रों सहित अन्य क्षेत्रों को पाबंदियों से दी गयी कई छूट का जिक्र किया। एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि महामारी का सामुदायिक संक्रमण नहीं हो रहा है और सरकार ने संक्रमण को रोकने के लिये सही कदम उठाए।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned