मंत्री राजेंद्र बालाजी ने गंवाया सचिव पद


एक महीने पहले एक तमिल साप्ताहिक पत्रिका के पत्रकार पर हुए हमले के सिलसिले में उनकी कड़ी निंदा हुई थी

By: P S Kumar

Updated: 22 Mar 2020, 09:34 PM IST

चेन्नई. एआईएडीएमके आलाकमान ने डेयरी विकास मंत्री राजेंंद्र बालाजी से विरुदनगर जिला सचिव पद छीन लिया है। उल्लेखनीय है कि एक महीने पहले एक तमिल साप्ताहिक पत्रिका के पत्रकार पर हुए हमले के सिलसिले में उनकी कड़ी निंदा हुई थी।


मंत्री राजेंद्र बालाजी का अपनी जुबान पर काबू नहीं रहता। पिछले साल के विधानसभा उपचुनाव में उनके मुसलमानों के खिलाफ दिए बयान से लोग भडक़ गए थे। उनकी प्रतिक्रिया थी कि एआईएडीएमके हिन्दुओं की पार्टी है और मुस्लिम पार्टियां आतंकियों का समर्थन करती है।


हाल में उनका एक ट्वीट भी वायरल हुआ था कि प्राकृतिक परिपाटी का मजाक उड़ाने वाले लोगों के लिए जो आज देश में घटित हो रहा है वह एक सबक है। अब भगवान श्रीकृष्ण ही भारत और भारतवासियों को इस कोरोना से बचा सकेंगे।


उनकी हरकतों से पार्टी संयोजक ओ. पन्नीरसेल्वम और मुख्यमंत्री ईके पलनीस्वामी की परेशानियां बढ़ती जा रही थी। वरिष्ठ नेताओं से मशविरे के बाद यह तय हुआ कि अब भी अनुशासनात्मक कार्रवाई नहीं की गई तो पानी सिर के ऊपर से निकल जाएगा।


संयोजक ओपीएस और सह संयोजक ईपीएस ने संयुक्त फैसला करते हुए उनको विरुदनगर जिला सचिव पद से हटाने का निर्णय कर रविवार को आदेश जारी कर दिया। हालांकि उनके आदेश में मंत्री को पार्टी पद से हटाए जाने के कारणों का उल्लेख नहीं था।

P S Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned