TN 5 करोड़ का कर्जा लेकर चुकाया कर्मचारियों का वेतन

जूता कंपनी के मालिक की भलमनसाहत

- चार माह की बकाया पगार

By: P S Kumar

Published: 01 Aug 2020, 09:22 PM IST

वेलूर. कोरोना संक्रमण की वजह से लॉकडाउन ने अर्थव्यवस्था को खूब क्षति पहुंचाई है। लाखों नौकरियां गईं तो कारखानों में ताले लगे। श्रमिकों व कर्मचारियों को वेतन के लिए तरसना पड़ा। ऐसी परिस्थिति में जिले के जूता कारखाना मालिक ने कर्मचारियों की चार महीने की बकाया पगार के भुगतान के लिए उधार लिया और उनमें खुशियां बांटीं।


जिले के अगरमचेरी स्थित कालपुतूर में सिनी लेदर नाम की जूता निर्माण फैक्टरी है। इस फैक्टरी का मालिक मादनूर निवासी श्रीनिवासन है। जनवरी माह में इस कारखाने को बेंगलूरु की शारा शू नामक कम्पनी ने सात साल की लीज पर लेकर काम शुरू किया। इस फैक्टरी में महिला-पुरुष मिलाकर करीब 814 कर्मचारी काम करते हैं।
इसी बीच 25 मार्च से लॉकडाउन शुरू हो गया। लॉकडाउन होते ही शारा शू के मालिक ने कारखाने पर ताला ठोका और कर्मचारियों को वेतन दिए बगैर बेंगलूरु चला गया।


कर्मचारियों का प्रदर्शन
इस दौरान कर्मचारियों ने दो बार वेतन की मांग को लेकर प्रदर्शन भी किया। लेकिन चार महीने बीत गए उनकी समस्या का कोई समाधान नहीं निकला। कर्मचारियों का दर्द समझते हुए फैक्टरी के पुराने मालिक श्रीनिवासन ने बैंक से 5 करोड़ का ऋण लेकर शनिवार को सभी को पूरा वेतन डिमांड ड्राफ्ट के जरिए दिया।


खुशी की लहर
वेतन मिलते ही हताश कर्मचारियों के चेहरे पर खुशी की लहर दौड़ गई। फैक्टरी मालिक श्रीनिवासन ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय में कारखाने को लीज लेने पर बेंगलूरू के शारा शू के कर्ता-धर्ता पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया है।

P S Kumar Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned