परीक्षा घोटाला रोकने के आधा दर्जन उपाय

इन छह उपायों से परीक्षा घोटाला रोकने की कोशिश की जा रही है... पढ़िए आयोग के idea

 

By: P S Kumar

Published: 07 Feb 2020, 07:26 PM IST

चेन्नई. तमिलनाडु लोक सेवा आयोग की परीक्षाओं में भविष्य में किसी तरह का घोटाला नहीं हो इसे सुनिश्चित करने के लिए छह नए उपाय लागू किए जाएंगे। आयोग ने इन आधा दर्जन उपायों की शुक्रवार को मीडिया को जानकारी दी।

आयोग की आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार एक अभ्यर्थी एक से अधिक आवेदन नहीं करे इसे सुनिश्चित करने के लिए आधार को अनिवार्य किया गया है। भर्ती प्रक्रिया पूरी होने के बाद चुने गए अभ्यर्थी का पूरा विवरण वेबसाइट पर साझा किया जाएगा। इसकी शुरुआत २०१९ की खण्ड-१ की परीक्षा के परिणाम और चुने गए १८१ अभ्यर्थियों के विवरण वेबसाइट पर प्रदर्शित किए जाने से होगी। परीक्षा पूरी होने के बाद ओएमआर शीट और प्रश्न पुस्तिका वेबसाइट के माध्यम से उचित शुल्क अदाकर उपलब्ध कराने की व्यवस्था की जाएगी। यह सुविधा १ अप्रेल से शुरू होगी।

इसी दिन से विभिन्न पदों के साक्षात्कार के बाद की रिक्तियों की स्थिति विभागवार, जिलावार व आरक्षित पदवार वेबसाइट पर प्रदर्शित की जाएगी। अभ्यर्थियों को परीक्षा केंद्र पहुंचने में आसानी हो इसलिए उनको तीन जिलों के केंद्र चुनने का विकल्प दिया जाएगा। परीक्षा परिणाम में किसी तरह की गड़बड़ी नहीं हो इसलिए आगामी परीक्षाओं में हाईटैक रिजल्ट प्रणाली को लागू किया जाएगा। आयोग ने जल्द ही परीक्षा प्रक्रिया संबंधी इतर बदलावों के भी संकेत दिए है।

P S Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned