एक सप्ताह के भीतर तमिलनाडु में फंसे प्रवासी और श्रमिकों के लिए चलेगी ट्रेन

चरणबद्ध तरीके से होगी व्यवस्था

By: PURUSHOTTAM REDDY

Updated: 05 May 2020, 09:23 PM IST

चेन्नई.

तमिलनाडु सरकार कोरोना वायरस संक्रमण रोकथाम के लिए किए गए लॉकडाउन के कारण राज्य में फंसे हुए श्रमिकों और प्रवासियों को अपने घर तक पहुंचाने के लिए जल्द व्यवस्था करेगी। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के. पलनीस्वामी ने मंगलवार को कहा कि दूसरे राज्यों के कामगार, श्रमिक और प्रवासियों को अपने वतन जाने के लिए एक सप्ताह के भीतर ट्रेन चलाकर रवाना किया जाएगा।

राज्य सरकार चरणबद्ध तरीके से प्रवासी श्रमिकों को अपने वतन भेजेगी। इसलिए जल्दबाजी करने की जरूरत नहीं है। व्यवस्थित रूप से चरणबद्ध तरीके से श्रमिकों को ले जाने के लिए वरिष्ठ अधिकारियों को पृथक पृथक राज्य की जिम्मेदारी दी जाएगी।

प्रवासी श्रमिक और प्रवासियोंं की सूची बनाई जा रही है और फील्ड अधिकारी श्रमिकों के पास जाकर उनसे विवरण जुटा रहे है। राज्य सरकार के अधिकारी अन्य राज्यों के संबंधित अधिकारियों के साथ संकलन कर इन श्रमिकों का विवरण साझा कर रहे है।

तमिलनाडु के फंसे 50 हजार श्रमिक
पलनीस्वामी ने कहा कि राज्य में 50 हजार प्रवासी श्रमिक है और 50 हजार श्रमिकों को एक साथ उनके वतन भेजना संभव नहीं है। इसलिए चरणबद्ध तरीके से प्रवासी श्रमिकों को टे्रन से अपने वतन भेजा जाएगा।  साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि जो श्रमिक यहां रूकना चाहते है क्योंकि कोरोना का संक्रमण का असर कम होते ही काम शुरू हो जाएगा।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned