जीवन का मूल्य समझें: आचार्य चंद्रजीत सूरीश्वर

प्रत्येक व्यक्ति को गुणों का पुजारी बनना चाहिए न कि रूप या धन का

By: Arvind Mohan Sharma

Published: 07 Jun 2018, 02:21 PM IST

ऊटी. आचार्य चंद्रजीत सूरीश्वर आदि ठाणा तीन व डॉ. समकित मुनि आदि ठाणा तीन का ऊटी जैन स्थानक में आध्यात्मिक मिलन हुआ। प्रवचन में आचार्य ने कहा कि जीवन हर कोई जीता है लेकिन उसका मूल्य कोई नहीं समझता। जिसने जीवन जीना नहीं सीखा वह न तो धर्म कर सकता है और न ही उसके परिवार में शांति का वातावरण बन सकता है।डॉ. समकित मुनि ने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को गुणों का पुजारी बनना चाहिए न कि रूप या धन का। गुणवानों की संगत से ज्ञान में वृध्दि होती है। सज्जन पुरुषों की संगत से हमारे भीतर भी सद्गुण प्रकट होते हैं। उन्होंने कहा कि कि नेक बनने के लिए हमारा प्रयास होना चाहिए। बाहर की सुंदरता से ज्यादा महत्व आंतरिक सौंदर्य का है। संचालन भेरूदान लुणावत ने किया।

 

काला फिल्म के कर्नाटक में दिखाए जाने की उ मीद: विवेक
कोयम्बत्तूर. तमिल फिल्म अभिनेता विवेक ने उम्मीद जताई है कि रजनीकांत अभिनीत फिल्म काला का प्रदर्शन कर्नाटक में होगा और समस्या का समाधान हो जाएगा। यहां संवाददाताओं से बातचीत में उन्होंने कहा कि पहले भी इस तरह के गतिरोध हुएहैं और कई फिल्मों को इसी तरह की समस्या का सामना करना पड़ा है लेकिन बाद में फिल्में दिखाई गई हैं। इस बार भी हल निकल आएगा।वे बुधवार को श्री कृष्णा आदित्य कला व विज्ञान कॉलेज में पौधारोपण के बाद संवाददाताओं के सवालों का जवाब दे रहे थे। राज्य सरकार की ओर से अगले साल से प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगाएजाने की घोषणा को स्वागत योग्य कदम बताते हुएउन्होंने कहा कि इससे पर्यावरणकी भी रक्षा होगी और मिट्टी का प्रदूषण भी रूकेगा। उन्होंने बताया कि पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम की सलाह पर उन्होंने एक करोड़ पौधारोपण का लक्ष्य रखा है जिसमें से २८.१८ लाख पौधे लगाएजा चुके हैं। उन्होंने कहा कि युवाओं व विद्यार्थियों में पौधारोपणजैसे कार्यक्रमों को लेकर खासा उत्साह है जिसकी वजह से हरियाली बढ़ेगी और ज्यादा बरसात भी होगी।

Arvind Mohan Sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned