पवित्र भूमि बन गई बलात्कारियों की भूमि : मद्रास हाईकोर्ट

हर पंद्रह मिनट में बलात्कार

By: PURUSHOTTAM REDDY

Published: 01 Oct 2020, 09:11 PM IST

चेन्नई.

मद्रास हाईकोर्ट ने गुरुवार को तल्ख टिप्पणी की कि पवित्र 'भारत भूमि' अब 'बलात्कारियों की भूमिÓ बन गई है जहां हर 15 मिनट में बलात्कार होता है।

एडवोकेटे सूर्यप्रकाशम ने हाईकोर्ट में महाराष्ट्र में प्रवासी तमिल श्रमिकों के हित में याचिका दायर की थी। हाईकोर्ट ने केंद्र व राज्य सरकार से प्रश्न किया था कि उनके हित में क्या कदम उठाए गए हैं इसकी रिपोर्ट पेश की जाए। न्यायाधीश एन. कृपाकरण और जज वेलमुरुगन की न्यायिक पीठ ने इस याचिका पर गुरुवार को फिर से सुनवाई की। दोनों सरकार ने जवाब पेश करने की मोहलत मांगी। अनुमति देते हुए न्यायालय ने सुनवाई अगले सप्ताह के लिए टाल दी।

इससे पहले याची सूर्यप्रकाशम ने हाईकोर्ट को बताया कि तिरुपुर जिले मेें असम मूल की एक महिला के साथ चार लोगों ने बलात्कार का संदर्भ देते हुए प्रवासी श्रमिकों की सुरक्षा पर सवाल उठाया। न्यायिक पीठ ने कहा कि प्रवासी श्रमिकोंं की न तो निर्धारित कार्यावधि है और न ही उनको उचित पारिश्रमिक मिलता है। भारत भूमि जिसे पवित्र माना जाता है में हर पंद्रह मिनट में बलात्कार होते हैं इस वजह से यह बलात्कारियों की भूमि हो चुकी है। यह अफसोसजनक है कि देश में महिला श्रमिक महफूज नहीं हैं।

इस विचार के साथ हाईकोर्ट की पीठ ने तिरुपुर पुलिस महानिरीक्षक को असम महिला के यौन उत्पीडऩ मामले की त्वरित जांच कराने और आरोपियों की गिरफ्तारी के आदेश जारी किए।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned