युनाइटेड इंडिया को 1003 करोड़ का शुद्ध लाभ

युनाइटेड इंडिया को 1003 करोड़ का शुद्ध लाभ

Mukesh Sharma | Publish: Jun, 14 2018 09:44:33 PM (IST) Chennai, Tamil Nadu, India

युनाइटेड इंडिया इंश्यूरेंस कंपनी के चेयरमैन सह प्रबंध निदेशक एम.एन.शर्मा ने मंगलवार को वर्ष 2017-18 के वित्तीय नतीजों की जानकारी...

चेन्नई।युनाइटेड इंडिया इंश्यूरेंस कंपनी के चेयरमैन सह प्रबंध निदेशक एम.एन.शर्मा ने मंगलवार को वर्ष 2017-18 के वित्तीय नतीजों की जानकारी दी। संवाददाताओं से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि कंपनी को इस वित्तीय वर्ष में 1003 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ हुआ है ।

कंपनी का प्रत्यक्ष सकल प्रीमियम आय 17430 करोड़ रुपए, शुद्ध अर्नड प्रीमियम 12861 करोड़ रुपए, शुद्ध इन्कर्ड क्लेम्स 12138 करोड़ रुपए, कमिशन 668 करोड़, प्रबंधन खर्च 2598 करोड़ रुपए, संयुक्त अनुपात प्रतिशत 119.77 प्रतिशत, निवेश आय (शुद्ध) 3770 करोड़, सकल लाभ 1228 करोड़ रुपए, नेट वर्थ 4820 करोड़, कराधान का प्रावधान 225 करोड़ रुपए रहा ।

उन्होंने कहा कि कंपनी तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, गोआ तथा छत्तीसगढ़ में राज्य सरकार की स्वास्थ्य बीमा योजनाओं के तहत बीमा करने में अग्रणी रही है । केंद्र सरकार की बीमा योजनाओं जैसे प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना तथा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को भी सफलतापूर्वक लागू किया गया है।

पर्वतीय क्षेत्र की ग्रामीण जनता ने किया

यहां कलक्टे्रट के सामने मंगलवार को तमिलनाडु पर्वतीय मकल कल्याण संगठन की ओर से जवादुमलै पर्वतीय क्षेत्र के सैकड़ों गांववासियों ने जाति प्रमाण पत्र सहित अन्य मूलभूत सुविधाओं की मांग को लेकर संगठन अध्यक्ष मल्लीबाबू के नेतृत्व में प्रदर्शन किया ।

इस अवसर पर मल्लीबाबू ने बताया कि जिले के जवादुमलै पर्वतीय क्षेत्र के गांववासियों को गुणवत्तापूर्ण पेयजल, बच्चों के लिए शिक्षा, स्वास्थ्य, सडक़ें, स्ट्रीट लाइट, जाति प्रमाण पत्र की मांग को लेकर कई बार संबधित अधि कारियों को ज्ञापन दिया जा चुका है लेकिन इसके बावजूद अब तक कोई सुविधा मुहैया नहीं की गई । सुनवाई नहीं करने एवं जाति प्रमाण पत्र व मूलभूत सुविधाओं की मांग को लेकर पर्वतीय क्षेत्र की जनता प्रदर्शन पर उतर आई ।

सुबह 10 बजे आर काट मार्ग स्थित मुुरु गन मंदिर से रैली के रूप में सैक ड़ों लोग प्रद र्शन स्थल पहुंचे। प्रदर्शन के दौरान पर संग ठन सचिव कुमार, संयो जक बी. शिवराम, सरवणन भी उपस्थित थे ।

Ad Block is Banned