आप आरोप साबित करके दिखाएं मैं सीएम की कुर्सी छोड़ने को तैयार

kiranChief Minister V. Narayanasamy ने उपराज्यपाल (Lieutenant Governor Kiran Bedi) को चुनौती दी कि अगर वे मौखिक आरोपों को साबित करने में नाकाम रहीं तो क्या संन्यास लेने को तैयार हैं?

चेन्नई. केंद्रशासित प्रदेश पुदुचेरी की मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी ने उपराज्यपाल किरण बेदी (kiran bedi) को चुनौती दी है कि अगर वे उन पर लगाए आरोप साबित कर देंगी तो वे सीएम पद छोड़ देंगे। प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में गुरुवार को संवाददाताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री और गृह मंत्री को अवगत कराया है कि प्रदेश सरकार की प्रतिदिन की कार्यवाही में विघ्न डालने की कोशिश करने वाली उपराज्यपाल किरण बेदी को वापस बुलाया जाना चाहिए। जनता द्वारा चुनी गई सरकार के अधिकारों का अतिक्रमण कर वे लोकतंत्र का अपमान कर रही हैं। उन्होंने मेरी बात गंभीरता से सुनीं।

सीएम ने कहा कि पार्टी विधायक धनवेलू ने मुझ पर और बेटे पर जमीन हड़पने का आरोप लगाया है। वे राजनिवास जाकर उपराज्यपाल से मिले तथा कुछ साक्ष्य पेश करने का दावा भी कर रहे हैं। उपराज्यपाल की जहां तक गरिमा का सवाल है अगर कोई उनसे शिकायत करता है तो उसके साथ ठोस साक्ष्य होने चाहिए। अगर उसमें सच्चाई है तो जांच के लिए पुलिस अथवा सीबीआइ को भेजी जानी चाहिए। निराधार और बिना साक्ष्य के मौखिक आरोपों को राजनिवास द्वारा समाचार के रूप में जारी कराना यह दर्शाता है कि उपराज्यपाल को प्रशासनिक कायदे नहीं पता हैं।

उन्होंने जोर देते हुए कहा कि उन पर अथवा परिजनों पर जमीन हथियाने का कोई भी आरोप साबित होता है तो वे पद से इस्तीफा दे देंगे। सीएम ने उपराज्यपाल को चुनौती दी कि अगर वे मौखिक आरोपों को साबित करने में नाकाम रहीं तो क्या संन्यास लेने को तैयार हैं? सीएम ने अपने बचाव में कहा कि वे कांग्रेस पार्टी के १४ साल महासचिव, २३ साल सांसद व केंद्रीय कैबिनेट में दस साल रहे। साढ़े तीन साल से वे पुदुचेरी के सीएम हैं। अगर वे भ्रष्ट होते तो उनको प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह की कैबिनेट में जगह नहीं मिल पाती।

नारायणसामी ने चुटकी ली कि आज-कल से नहीं उपराज्यपाल किरण बेदी साढ़े तीन सालों से उनके खिलाफ साक्ष्य खोज रही हैं। कई आरोप लगाए गए और छानबीन की गई। वे केंद्र में सीबीआइ विभाग के मंत्री रह चुके हैं। उनको प्रशासन की जानकारी है। वे किसी भ्रष्टाचार में लिप्त नहीं हैं। पुदुचेरी आईं उपराज्यपाल साढ़े तीन सालों से प्रशासनिक गतिविधियों की जानकारी के बगैर मनमाफिक व्यवहार कर रही हैं। एनआर कांग्रेस और भाजपा का उनको समर्थन प्राप्त है।

MAGAN DARMOLA
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned