झील के पास निवास फिर भी पानी के लिए इंतजार!

उत्तर चेन्नई के तिरुवीका नगर, पेरंबूर, पट्टालम, ओटेरी, माधवरम, कुमरन नगर, पेरम्बलूर, कदीरबेडु, बालाजी नगर, नीलकंठ नगर ऐसे इलाके हैं जहां पीने का पानी का घोर संकट है। और तो और रेडहिल्स सरोवर के आसपास के इलाकों में भी पीने का पानी नियमित आपूर्ति नहीं की जाती है।

By: Dhannalal Sharma

Published: 21 May 2020, 02:39 PM IST

चेन्नई. इसे विडंबना ही कहा जाएगा कि झील किनारे रहने के बावजूद पानी का इंतजार करना पड़ता है। लोगों का घर रेडहिल्स झील के आसपास है लेकिन पेयजल के लिए अपनी बारी का इंतजार करना पड़ता है। मेट्रो वाटर डिपार्टमेंट का कहना है कि महानगर में पानी का कोई संकट नहीं है चारों झीलों में वांछित मात्रा में जल उपलब्ध है जो महानगर के बाशिंदों की प्यास बुझाने के लिए काफी है लेकिन अप्रैल महीने से ही उत्तर चेन्नई के कई इलाके भारी जल संकट से जूझ रहे हैं। कई इलाके तो ऐसे हैं मेट्रो वाटर का पानी महज घंटे भर के लिए ही आता है इस वजह से लोगों को पेयजल के लिए बाजार पर निर्भर रहना पड़ता है।
बता दें कि उत्तर चेन्नई के तिरुवीका नगर, पेरंबूर, पट्टालम, ओटेरी, माधवरम, कुमरन नगर, पेरम्बलूर, कदीरबेडु, बालाजी नगर, नीलकंठ नगर ऐसे इलाके हैं जहां पीने का पानी का घोर संकट है। और तो और रेडहिल्स सरोवर के आसपास के इलाकों में भी पीने का पानी नियमित आपूर्ति नहीं की जाती है। आमजन को पीने के पानी के अलावा अन्य जरूरी कार्यों में भी बाजार से पानी खरीद कर उद्देश्य पूर्ति करना पड़ता है।

कई इलाके नलविहीन
गौरतलब है कि रेडहिल्स सरोवर के पूर्वी भाग का इलाका माधवरम विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आता है इलाके में कई नगर नए बसे हैं। कन्नडापालयम, गुरु शांति नगर, नीलकंठ नगर, शक्तिवेल नगर, बालाजी नगर इलाकों में अब तक मेट्रो वाटर का नल भी नही लगा है। इन इलाकों को 2011 में ही ग्रेटर चेन्नई कॉर्पोरेशन से जोड़ दिया गया ऐसे में इन सभी उपनगरों में पेयजल का संकट सरकार के उन वादे को पोल खोल रहा है जिनमें कहा जा रहा है कि महानगर में जल का संकट नहीं है और महानगर के प्रमुख जलाशयों में भरपूर पानी है।
पिछले दिसंबर में तमिलनाडु सरकार के पीडब्ल्यूडी विभाग ने यह घोषणा की थी कि चेन्नई में पिछले वर्षों की तरह पानी का संकट बिल्कुल नहीं होगा क्योंकि सभी जलाशयों में भरपूर पानी है। विभाग ने यह भी कहा था जिन इलाके में पिछले साल पानी का संकट था उन इलाकों में पानी की आपूर्ति हर दिन की जाएगी लेकिन रेडहिल्स सरोवर के आसपास के पूर्वी इलाकों के उपनगरों में जल संकट बरकरार है और लोगों को एक दिन छोड़कर दूसरे दिन पानी की आपूर्ति होती है वह भी सुबह महज एक घंटे के लिए। नतीजतन लोग नल के पास अपने घडे कतार में लगा देते हैं ताकि उन्हें समय से पानी मिल जाए।

Dhannalal Sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned