भाजपा से देश को बचाने के लिए सीपीआई लड़ेगी: डी. राजा

भाजपा से देश को बचाने के लिए सीपीआई लड़ेगी: डी. राजा

P.S.Vijayaraghavan | Updated: 16 Aug 2019, 04:43:21 PM (IST) Chennai, Chennai, Tamil Nadu, India

तुत्तुकुड़ी. जम्मू कश्मीर में विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद ३७० को हटाने के बाद उत्पन्न हुए हालात से निपटने के लिए केंद्र सरकार द्वारा उठाए जा रहे कदमों की निंदा करते हुए सीपीआई के महासचिव डी. राजा ने कहा कि केंद्र के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार से देश की जनता के अधिकारों को बचाने के लिए सीपीआई खुद को तैयार कर रही है।

भाजपा से देश को बचाने के लिए सीपीआई लड़ेगी: डी. राजा
तुत्तुकुड़ी. जम्मू कश्मीर में विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद ३७० को हटाने के बाद उत्पन्न हुए हालात से निपटने के लिए केंद्र सरकार द्वारा उठाए जा रहे कदमों की निंदा करते हुए सीपीआई के महासचिव डी. राजा ने कहा कि केंद्र के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार से देश की जनता के अधिकारों को बचाने के लिए सीपीआई खुद को तैयार कर रही है। आजादी के लिए जिस प्रकार से अंग्रेजों से लड़ाई की थी उसी प्रकार से देश के अधिकारों की रक्षा के लिए भाजपा से की जाएगी। सीपीआई के तीन दिवसीय कार्यकारिणी कमेटी की बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदानों को याद करते हुए राजा ने कहा कि भाजपा से देश को सुरक्षित करने के लिए उसी प्रकार से लड़ाई की जरूरत है। अपनी फासीवादी विचारधारा के साथ भाजपा को ऑपरेट करने के लिए आरएसएस की निंदा करते हुए राजा ने कहा अम्बेडकर द्वारा गठित संविधान की रक्षा करना बहुत ही जरूरी है। जम्मू कश्मीर के मुद्दे पर उन्होंने कहा संविधान और वहां की जनता के अधिकारों को अनदेखा करते हुए लोकतंत्र पर हमला किया गया है। अगर सब कुछ सही होता तो गत ९ अगस्त को मुझे और सीपीआई (एम) के सचिव सीताराम येचुरी को श्रीनगर हवाईअड्डे से बाहर जाने दिया गया होता, लेकिन नहीं जाने दिया गया। अगर दो नेताओं की स्थिति ऐसी थी तो सामान्य लोगों के साथ क्या हुआ होगा? उन्होंने कहा कि किसी को नहीं पता है कि केंद्र शासित प्रदेश में क्या हो रहा है। इंतजार कर देखना होगा कि मोदी सरकार ने किसके लिए यह निर्णय लिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उस टिप्पणी, जिसमें उन्होंने स्वतंत्रता दिवस पर कहा था कि किसान अब खुश हैं, की निंदा करते हुए राजा ने कहा किसान के साथ अन्य लोग भी दुखी हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned