scriptWHO experts warn Tamil Nadu of sudden spurt in Omicron infections | WHO के विशेषज्ञों ने कहा- तमिलनाडु में आ सकता है ओमिक्रॉन मामलों में उछाल, तैयार रहें | Patrika News

WHO के विशेषज्ञों ने कहा- तमिलनाडु में आ सकता है ओमिक्रॉन मामलों में उछाल, तैयार रहें

- स्वास्थ्य विभाग को ओमिक्रॉन को लेकर चेतावनी दी

चेन्नई

Updated: December 25, 2021 04:42:53 pm

चेन्नई.

दुनियाभर में कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वेरिएंट के बढ़ते मामलों के कारण एक बार फिर कई देश पाबंदियां लगाने पर मजबूर हो गए हैं। भारत में भी ओमिक्रॉन वेरिएंट के अब तक 415 मामले सामने आ चुके हैं। ओमिक्रॉन से संक्रमितों की सबसे ज्यादा संख्या महाराष्ट्र में 108, दिल्ली में 79, गुजरात में 43, तेलंगाना में 38, केरल में 37, तमिलनाडु में 34 और कर्नाटक में 31 है।

Omicron may not give time to prepare
Omicron may not give time to prepare

इस बीच मुख्य वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन सहित विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के विशेषज्ञों ने तमिलनाडु के स्वास्थ्य विभाग को ओमिक्रॉन के मामलों में अचानक उछाल की संभावना के खिलाफ चेतावनी दी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के विशेषज्ञों ने चेताया है कि अगर कोरोना के लिए जारी दिशा-निर्देशों का लोगों द्वारा पालन नहीं किया गया, तो स्थिति बेहद खराब हो सकती है।

देश के कई राज्यों में ओमिक्रोन के मामले तेजी बढऩे की आशंका भी डब्ल्यूएचओ ने जताई है। विशेषज्ञों ने आगामी त्योहारी सीजन के दौरान अपर्याप्त टीकों और कोविड-उपयुक्त व्यवहार की कमी के बाद ओमिक्रॉन के मामलों में वृद्धि की संभावना की चेतावनी दी है।

स्वामीनाथन ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक में कहा कि ओमिक्रॉन वेरिएंट स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं को तैयारी के लिए समय नहीं देता है।

राज्य के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के अनुसार, डब्ल्यूएचओ के मुख्य वैज्ञानिक ने चेतावनी दी है कि ओमिक्रॉन वेरिएंट में उच्च संचरण दर है और यह एंटीबॉडी और प्रतिरक्षा से बच जाता है। विशेषज्ञों ने सरकार को और अधिक बेड, ऑक्सीजन सिलेंडर, दवाओं और परीक्षण किट के साथ तैयार रहने के लिए आगाह किया है।

राज्य के स्वास्थ्य सचिव जे. राधाकृष्णन ने लोगों से क्रिसमस, नव वर्ष और पोंगल को संयमित तरीके से मनाने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि लोगों को धार्मिक स्थलों पर फीजिकली न जाकर ऑनलाइन दर्शन और वर्चुअल उत्सव मनाने का प्रयास करना चाहिए। गलत सूचना को रोकने के लिए विभाग शिक्षा सामग्री और मीडिया ब्रीफ जारी करेगा।

हालांकि, राज्य सरकार कोई नया प्रतिबंध नहीं लगाएगी और मौजूदा प्रतिबंध 31 दिसम्बर तक जारी रहेंगे।
इस बीच, मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने एक आधिकारिक बयान में लोगों से राज्यभर में शिविरों के माध्यम से टीकाकरण सुविधाओं का उपयोग करने की अपील की।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Republic Day 2022: 939 वीरों को मिलेंगे गैलेंट्री अवॉर्ड, सबसे ज्यादा मेडल जम्मू-कश्मीर पुलिस कोRepublic Day 2022 LIVE :गणतंत्र दिवस की पूर्व संख्या पर जवानों की बहादुरी को सलाम, ITBP के 18 जवानों को पुलिस सेवा पदकBudget 2022: कोरोना काल में दूसरी बार बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए तारीख और समयशरीयत पर हाईकोर्ट का अहम आदेश, काजी के फैसलों पर कही ये बातUP Assembly Elections 2022 : हेमा, जया, स्मृति और राजबब्बर रिझाएंगें मतदाताओं को, स्टार प्रचारकों की लिस्ट में हैं शामिलस्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना हालातों पर राज्यों के साथ की बैठक, बोले- समय पर भेजें जांच और वैक्सीनेशन डाटाUttar Pradesh Assembly Elections 2022: सपा का महा गठबंधन अखिलेश के लिए बड़ी चुनौतीबजट से पहले 1 फरवरी को बुलाई गई विधायक दल की बैठक, यह है अहम कारण
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.