जिले में 36 करोड़ लागत की 19 औद्योगिक इकाइयां का हुआ लोकार्पण एवं भूमिपूजन

मुख्यमंत्री ने वर्चुअल कार्यक्रम के जरिए कि या भूमिपूजन और लोकार्पण
वुडन फर्नीचर कलस्टर किया जा रहा तैयार, आइटी कंपनी को लाने के हो रहे प्रयास

By: Dharmendra Singh

Published: 08 Apr 2021, 10:01 PM IST

छतरपुर। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा प्रदेश स्तरीय कार्यक्रम में 4 हजार 200 करोड़ रूपए निवेश से 1 हजार 891 शुष्क, लघु एवं मध्यम उद्यमों की इकाईयों का वर्चुअल भूमिपूजन एवं लोकार्पण किया गया। इसमें छतरपुर जिले की 36 करोड़ लागत से स्थापित 19 औद्योगिक इकाइयां भी शामिल हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश के लिए अर्थव्यवस्था एवं रोजगार, अद्यौसंरचना, शिक्षा तथा स्वास्थ्य और गुड गवर्नेंस का रोडमेप तैयार किया गया और प्रतिमाह 1 लाख बेरोजगारों को रोजगार मुहैया कराने का लक्ष्य रखा गया। मुख्यमंत्री ने नागरिकों का आव्हान करते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण से बचने के लिए मास्क पहनना, दो गज की दूरी रखना और हाथों को साफ करना नितांत जरूरी है। उन्होंने कहा कि एमपी का अर्थ है मास्क पहनना। इसीलिए समाज के सभी लोग कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए मास्क पहनें।

इस अवसर पर ऑडिटोरियम छतरपुर में जिला पंचायत अध्यक्ष कलावती अनुरागी और चंदला विधायक राजेश प्रजापति तथा टिम्बर एसोशिएशन के कौशल किशोर, खजुराहो सांसद के प्रतिनिधि प्रमोद शुक्ला सहित औद्योगिक इकाइयों के प्रतिनिधि, कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह, जीएम डीआईसी आशुतोष गुप्ता भी विशेष रूप से उपस्थिति रहे। विधायक राजेश प्रजापति ने कहा कि आज खुशी का दिन है कि शुष्क, लघु एवं मध्यम उद्योगों का शुभारंभ मुख्यमंत्री द्वारा किया जा रहा है। प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में कोरोनाकाल के संकट में बहुआयामी एवं सामाजिक धरोहर सिद्ध होगा। इससे जरूरतमंद लोगों को स्थानीय स्तर पर रोजगार सुलभ होगा। उल्लेखनीय है कि चन्द्रपुरा क्षेत्र के समतलीकरण एवं अन्य विकासमूलक कार्यों के लिए राज्य सरकार द्वारा ढ़ाई करोड़ तथा विद्युतीकरण के लिए 81 लाख रूपए स्वीकृत किए गए हैं।
कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह ने कहा कि छतरपुर जिले में औद्योगिक इकाइयों की स्थापना एवं विकास के लिए प्रुडेंसियल उपलब्ध है। जिला यातायात, ट्रेन और हवाई मार्ग की सुविधा से जुड़ा है। यहां से कानपुर, भोपाल, अहमदाबाद एवं मुम्बई के लिए मार्केटिंग सुविधा भी उपलब्ध हैै। प्रशासन स्तर पर गुजरात के अमहदाबाद और मुम्बई से फ्लाइट सेवा चालू कराने के प्रयास जारी हैं उन्होंने जिले के उद्यमियों से अपील करते हुए कहा कि छतरपुर जिले को औद्योगिक इकाइयों के क्षेत्र में विकसित करने की प्रतिज्ञा लें और जिलों को बेहतर बनाने में हरसंभव मदद करें। उन्होंने कहा कि आईटी कम्पनी को छतरपुर लाने का प्रयास भी किया जा रहा है। महाप्रबंधक जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र आशुतोष गुप्ता ने बताया कि 19 औद्योगिक इकाइयां 36 करोड़ की लागत से शुरू की गई हैं। आगामी कुछ महीनों में 17 और इकाइयां उत्पादन करने की श्रेणी में आएंगी। जिले में वुडन फर्नीचर की संभावना को देखते हुए ग्राम पठापुर में 73 एकड़ शासकीय भूमि पर फर्नीचर क्लस्टर का प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है। भारत सरकार एमएसएमआई मंत्रालय की स्वीकृति के यहां कॉमन फैसिलिटी सेंटर भी विकसित होगा।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned