script28 new infected were found, 4 discharged on recovery, now 185 active | 28 नए संक्रमित मिले, स्वस्थ होने पर 4 डिस्चार्ज, अब 185 हुए एक्टिव केस | Patrika News

28 नए संक्रमित मिले, स्वस्थ होने पर 4 डिस्चार्ज, अब 185 हुए एक्टिव केस


बुधवार को 431 सैंपल में मिले 28 नए संक्रमित
कान्टेक्ट ट्रेसिंग में देरी से बढ़ रहे संक्रमित, दो दिन में आ रही रिपोर्ट

छतरपुर

Updated: January 12, 2022 07:17:56 pm

छतरपुर। छतरपुर जिले में कोरोना के मामले रोज तेजी से बढऩे लगे हैं। बुधवार को जिले के 431 सैंपल की रिपोर्ट में 28 नए संक्रमित मिले। वहीं स्वस्थ होने पर होमआइसोलेशन से 4 मरीज डिस्चार्ज भी किए गए हैं। जिले में अब कोविड के एक्टिव केस 185 हो गए हैं। बुधवार को जिले में पॉजिटिव होने की दर 6.49 प्रतिशत रही। नए मरीज छतरपुर जिला अस्पताल, चुरारन राजनगर, खजुराहो, नौगांव, बमीठा, लखेरापुरवा, छत्रसाल नगर छतरपुर, रवई और पिपराकला बड़ामलहरा में मिले हैं।
बुधवार को 431 सैंपल में मिले 28 नए संक्रमित
बुधवार को 431 सैंपल में मिले 28 नए संक्रमित
हालांकि गनीमत ये है कि ज्यादातर मामले मंद लक्षणों वाले मिल रहे हैं इसलिए फिलहाल अस्पताल खाली है लेकिन यदि संक्रमण की दर इसी तरह बढ़ती रही और इस वायरस ने बुजुर्गों और बीमारों को चपेट में लेना शुरू किया तो मुश्किल बढ़ जाएगी। वायरस के तेजी से फैलने का कारण सिर्फ लोगों की लापरवाही नहीं बल्कि स्वास्थ्य अमले का उदासीन होना भी है। इस लहर के दौरान न तो समय पर मरीजों के संपर्क में आए लोगों की कान्टेक्ट टे्रसिंग कराई जा रही है और न ही मरीजों के घर के बाहर कंटेनमेंट एरिया बनाया जा रहा है। सिर्फ सैंपल लेकर जांच रिपोर्ट देने तक ही स्वास्थ्य विभाग की कार्यवाही चल रही है। यही वजह है कि संक्रमित व्यक्ति दो से तीन दिन के भीतर कई दूसरों लोगों को संक्रमित कर देता है।
पिछली लहर में यहीं लापरवाही पड़ी थी भारी
उल्लेखनीय है कि छतरपुर जिले में पिछली लहर के दौरान भी सीएमएचओ के रूप में डॉ. विजय पथौरिया ही मौजूद थे। पथौरिया इस लहर के दौरान सिर्फ ऑफिस में प्रशासनिक कामकाज, खरीदी, नियुक्तियों में ही दिलचस्पी लेते रहे। इस कारण जिले में पिछली लहर के दौरान सैकडों लोगों की जान चली गई थी। इस वर्ष भी पथौरिया के द्वारा अस्पताल का एक भी भ्रमण नहीं किया गया है। न ही वे लगातार आ रहे मरीजों के संबंध में मैदानी अमले के साथ खड़े नजर आ रहे हैं। सीएमएचओ कार्यालय से समय मिलने के बाद वे निजी रूप से अपने घर में मरीजों को देखने में दिलचस्पी लेते हैं। यदि कोरोना की रफ्तार और डॉ. पथौरिया की लापरवाही इसी तरह जारी रही तो तीसरी लहर मुसीबत बन सकती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

India-Central Asia Summit: सुरक्षा और स्थिरता के लिए सहयोग जरूरी, भारत-मध्य एशिया समिट में बोले पीएम मोदीAir India : 69 साल बाद फिर TATA के हाथ में एयर इंडिया की कमानयूपी चुनाव से रीवा का बम टाइमर कनेक्शननागालैंड में AFSPA कानून को खत्म करने पर विचार कर रही केंद्र सरकारजिनके नाम से ही कांपते थे आतंकी, जानिए कौन थे शहीद बाबू राम जिन्हें मिला अशोक चक्रUP Election 2022: भाजपा सरकार ने नौजवानों को सिर्फ लाठीचार्ज और बेरोजगारी का अभिशाप दिया है: अखिलेश यादवतमिलनाडु सरकार का बड़ा फैसला, खत्म होगा नाईट कर्फ्यू और 1 फरवरी से खुलेंगे सभी स्कूल और कॉलेजपीएम नरेंद्र मोदी कल करेंगे नेशनल कैडेट कॉर्प्स की रैली को संभोधित, दिल्ली के करियप्पा ग्राउंड में होगा कार्यक्रम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.