जिले के 5 कंटेनमेंट एरिया कोरोना से मुक्त घोषित, जिले में अबतक 16 एरिया हुए मुक्त

जिले में कुल 28 कंटेनमेट एरिया हुए थे घोषित, अब बचे सिफ 12 कंटेनमेंट एरिया
जिले में 57 कोरोना पॉडिटिव में से सिर्फ 3 केस बचे हैं एक्टिव

By: Dharmendra Singh

Published: 30 Jun 2020, 06:00 AM IST

छतरपुर। सोमवार को जिले के रहवासियों के लिए एक और राहत भरी खबर आई हैं। जिले के पांच कंटेनमेंट एरिया को कोराना मुक्त घोषित कर दिया गया है। जिले में कुल 28 कंटेनमेंट एरिया बनाए गए थे, जिसमें से अबतक 16 कंटेनमेंट एरिया फ्री घोषित हो चुके हैं। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी शीलेन्द्र सिंह ने पूर्व में घोषित किए गए 5 क्षेत्रों को कंटेनमेंट क्षेत्र को सोमवार को फ्री घोषित कर दिया है। इन क्षेत्रों में 21 दिन पूर्ण होने के बाद कोई भी व्यक्ति कोरोना संक्रमित नहीं मिला है और स्वास्थ्य सर्वे में कोई भी व्यक्ति संदिग्ध की श्रेणी में नहीं पाया गया है। कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह ने ग्राम अभऊ के वार्ड क्रमांक 4 तहसील गौरिहार, ग्राम इटवा के वार्ड क्रमांक 16 तहसील लवकुशनगर, ग्राम महोईखुर्द के वार्ड क्रमांक 11 तहसील गौरिहार, ग्राम गौरिहार के वार्ड क्रमांक 3 तहसील गौरिहार और ग्राम ठकुर्रा के वार्ड क्रमांक 2 तहसील गौरिहार को कंटेनमेंट क्षेत्र से मुक्त कर दिया गया है।

3 केस एक्टिव, बाकी लौटे घर
दिल्ली में पॉजिटिव रिपोर्ट आने वाले बूदौर के ग्रामीण समेत जिले के 57 में से 54 मरीज ठीक होकर घर जा चुके हैं। जिले में अब सिर्फ 3 केस एक्टिव हैं। जिले से अबतक 1923 सैंपल की रिपोर्ट भेजी गई है, जिसमें से 111 की रिपोर्ट आना शेष हैं। रविवार को पेंडिग 122 रिपोर्ट में से 82 की रिपोर्ट निगेटिव आई है। वहीं सोमवार को 71 सैंपल और भेजे गए हैं। इस तरह से 111 सैंपल की रिपोर्ट आना शेष है। जिले में सोमवार तक 2 लाख 64 हजार 574 लोगों की स्क्रीनिंग कराई गई है। वहीं, होम क्वारंटीन में लोगों की संख्या भी लगातार घट रही है। सोमवार तक जिले में 2485 लोग होम क्वारंटीन पर थे। सोमवार को ऑपरेशन पहचान के तहत सर्दी, खांसी और बुखार के 94 लोगों की पहचान हुई है।

ऑपरेशन किल कोरोना की तैयारियां शुरु
कोरोना के खिलाफ जिले में अब तक का सबसे बड़ा अभियान किल-कोरोना 1 जुलाई 2020 से प्रारंभ किया जाएगा। इस अभियान के अंतर्गत स्वास्थ्य,एएनएम, आशा एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ता घर-घर जाकर लोगों से उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी लेंगे। डोर-टू-डोर सर्वे के इस अभियान मे कोरोना के साथ-साथ मलेरिया एवं अन्य मौसमी बीमारी से पीडि़त मरीजों को चिन्हित कर उनका स्वास्थ्य परीक्षण भी किया जाएगा। प्रशासन द्वारा किल कोरोना अभियान की जिले में तैयारियां प्रारंभ कर दी गई हैं जिसके तहत डोर-टू-डोर सर्वे के लिए जिले के समस्त विकासखंडों मे गठित किए गए दलों की प्रशिक्षण प्रक्रिया कराई जा रही है।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned