धूमधाम से मनाया गया गुरुनानक देव का 551वां प्रकाश पर्व

कोविड संक्रमण के चलते सावधानी के साथ मनाया गया पर्व, मास्क में नजर आए सभी लोग
लंगर में शामिल हुए सभी समाज के लोग, गुरुवाणी का सभी ने किया रसपान

By: Dharmendra Singh

Published: 30 Nov 2020, 09:13 PM IST

Chhatarpur, Chhatarpur, Madhya Pradesh, India

छतरपुर। शहर में सोमवार को कार्तिक पूर्णिमा पर गुरुनानक देव की जयंती प्रकाश पर्व के रुप में धूमधाम से मनाई गई। शहर के महोबा रोड स्थित गुरुद्वारा में गुरु नानक जयंती के अवसर पर गुरुवाणी का आयोजन समाज के संतों द्वारा किया गया। सुबह 6 बजे से 12 बजे तक कीर्तन एवं कथा का आयोजन किया गया। 12 से एक बजे तक पुष्पांजलि, दोपहर एक बजे से डेढ़ बजे तक आनंद साहिब पाठ व अरदास तथा दोपहर दो बजे से शाम 6 बजे तक शोभायात्रा निकाली गई। गुरुवाणी कार्यक्रम के बाद परिसर में समाज सहित शहर के अन्य समुदाय के लोगों के लिए सामूहिक लंगर भोज का आयोजन किया जाएगा। सुबह से ही महोबा रोड स्थित गुरुद्वारा में श्रद्धालुओं का आना शुरु हो गया। इस मौके पर शहर के अन्य समुदाया के लोग भी गुरुद्वारा पहुंचे और मत्था टेककर गुरु का लंगर छका।

पंचप्यारों पर बरसाए भूल
सिख समाज द्वारा 551 वीं गुरुनानक जयंती बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाई गई। महोबा रोड स्थित गुरुद्वारा में प्रकाश पर्व के दौरान लगातार चल रहे कार्यक्रमों के बाद शोभायात्रा निकाली गई। ये शोभायात्रा गुरुग्रंथ साहिब के अगुवाई में शुरू हुई। इसमें साध संगत विशेष परिधान में गुरुघर की सवारी गाड़ी के पीछे शबद कीर्तन करते चल रहे थे। परंपरा के अनुसार गुरुग्रंथ साहिब की सवारी को फूलमालाओं से सजाया गया। शोभायात्रा में महिलाएं कीर्तन करते हुए चल रही थी। वहीं, शहर के लोगों ने पंचप्यारों पर फूल बरसाए। शोभायात्रा का शहर में कई जगह स्वागत हुआ। श्रद्धालुओं को प्रसाद वितरित किया गया। शोभायात्रा में समाज के श्रद्धालु जमकरे थिरके। वहीं महिलाओं की टोली गीत गाते हुए चल रही थी, तो पुरुष शोभायात्रा में कतार में चलते हुए जयकारे लगाते हुए चल रहे थे।

इन जगहों से गुजरी शोभायात्रा
शोभायात्रा महोबा रोड स्थित गुरुद्वारा से शुरू होकर बस स्टैंड, फव्वारा चौक, मऊदरवाजा, हटवारा, चौक बाजार, सिटी कोतवाली, महल रोड, छत्रसाल चौराहा, आकाशवाणी तिराहा, जवाहर रोड होते हुए वापस गुरुद्वारा पर समाप्त होती है। शोभायात्रा के दौरान सिख समाज की महिलाएं, बच्चे सहित युवतियों ने पंच प्यारे और गुरुग्रंथ साहिब के वाहन के आगे सफाई करते हुए झाड़ू लगाई। सिख समाज की महिलाएं ने शोभा यात्रा के धार्मिक गीत गए और गुरुग्रंथ साहिब के बताए हुए मार्ग पर चलने के लिए शहर के लोगों को प्रेरित किया। शोभा यात्रा में शहर सहित क्षेत्र भर से आए समाज के लोग मौजूद रहे।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned