जिले में अब तक हुई औसत का 60 फीसदी बारिश

प्रदेश में सामान्य से कम वर्षा वाले तीन जिलो में शामिल
सामान्य से कम बारिश होने से जिले के बांधों में जलभराव कम, पिछले साल की तुलना में अबतक 4 इंच कम हुई बारिश
एक सप्ताह से नहीं हुई बारिश, आद्रता 82 फीसदी तक पहुंची, उमस भरी गर्मी से जनजीवन प्रभावित

By: Dharmendra Singh

Published: 07 Sep 2020, 07:00 AM IST

छतरपुर। प्रदेश में भले ही सामान्य बारिश हुई है, लेकिन छतरपुर जिले में औसत का 60 फीसदी बारिश ही अबतक हुई है। जिले की कुल औसत बारिश 42.3 इंच की तुलना में अब तक केवल 25.5 इंच बारिश दर्ज की गई है। जबकि पिछले साल इस अवधि में 29.5 इंच बारिश हुई थी। प्रदेश में सामान्य से कम बारिश वाले तीन जिलों में शामिल ग्वालियर, भिंड के साथ छतरपुर में भी सामान्य बारिश का आंकड़ा भी पूरा नहीं हुआ है। बारिश की कमी के चलते जिले के ज्यादातर बांधों में जलभराव की स्थिति भी ठीक नहीं है। वहीं, पिछले एक सप्ताह से बारिश नहीं होने और तेज धूप के साथ हवा में आद्रता सुबह के समय 82 फीसदी और शाम को 63 फीसदी रहने से से उमसभरी गर्मी पड़ रही है।

ये है जिले में बारिश की स्थिति
जिले के आठ वर्षामापी केन्द्रों के आंकड़ों के मुताबिक जिले में सबसे कम 16.7 इंच बारिश लवकुशनगर इलाके में दर्ज की गई है। वहीं छतरपुर में 21.9 इंच, बिजावर में 26.4 इंच, नौगांव में 27.1 इंच, गौरिहार में 23.8 इंच, बड़ामलहरा में 29.0 इंच, बक्स्वाहा में 29.3 इंच और राजनगर में सबसे ज्यादा 30 इंच बारिश दर्ज की गई है। जिले में 6 सिंतबर तक औसत बारिश 25.5 इंच दर्ज की गई है। जो औसत बारिश 42.3 इंच की तुलना में केवल 60 फीसदी है। पिछले साल जिले में औसत बारिश 49.3 इंच हुई थी, जिसकी तुलना में इस साल अबतक कुल 51 फीसदी बारिश ही दर्ज की गई है।

बांधों में जलभराव की ये है स्थिति
जिले के आठ बड़े बांधों व जलाशयों में से तीन को छोड़कर बाकी में जलभराव की स्थिति बहुत खराब है। जलसंसाधन विभाग के आंकड़ों के मुताबिक सिंहपुर बांध में 89 फीसदी जलभराव हुआ है, जो पिछले साल 16 फीसदी था। वहीं, कुटनी डैम में 73 फीसदी जलभराव हुआ है, जो पिछले साल 27 फीसदी था। इसी तरह तारपेड़ प्रोजेक्ट में इस बार 86 फीसदी जलभराव हुआ है, जो पिछले साल 54 फीसदी था। इन तीन बांधों को छोड़कर सभी में जलभराव 45 फीसदी भी नहीं हुआ है। बेनीसागर बांध में पिछले साल 47 फीसदी जलभराव हुआ था, जो इस साल अभी तक 42 फीसदी हुआ है। छतरपुर शहर को जलापूर्ति करने वाले बूढ़ा बांध में जल भराव अभी तक 40 फीसदी हुआ है, हालांकि पिछले से साल इसमें 29 फीसदी पानी आया था। गोरा जलाशय में अभी तक 7 फीसदी पानी जमा हुआ है, वहीं, पिछली साल 4 फीसदी जलभराव हुआ था। उर्मिल बांध में पिछले और इस साल अभी तक 15 फीसदी जलभराव हुआ है। वहीं, रनगुंवा बांध में अभी तक 33 फीसदी पानी जमा हुआ है। जबकि पिछले साल इस अवधि में कुल क्षमता का 46 फीसदी पानी भर गया था।

गर्मी व उमस का रहेगा मौसम
मौसम विभाग के मुताबिक आने वाले दिनों में जिले में बारिश की संभावना कम है। मानसून बारिश को सिस्टम अंचल में न होने से एक सप्ताह से बारिश थमी हुई है। जिससे तेज धूप के साथ ही हवा में आद्रता बढऩे से उमस भरी गर्मी फिर से पडऩे लगी है। पूर्वानुमान के मुताबिक उमस भरी गर्मी अभी कुछ दिन पड़ेगी। मौसम में अभी बदलाव की संभावना कम है।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned