script850 liters per minute oxygen plant started in district hospital | जिला अस्पताल में शुरु हुआ 850 लीटर प्रतिमिनट का ऑक्सीजन प्लांट | Patrika News

जिला अस्पताल में शुरु हुआ 850 लीटर प्रतिमिनट का ऑक्सीजन प्लांट


1 हजार प्रति लीटर की क्षमता के दूसरे प्लांट का फाउंडेशन बनकर तैयार
पहला ऑक्सीजन प्लांट शुरु होने से जिला अस्पताल हुआ आत्मनिर्भर

छतरपुर

Published: August 13, 2021 06:12:54 pm

छतरपुर। जिला अस्पताल के कोविड वार्ड में ऑक्सीन सप्लाई करने वाले 850 लीटर प्रति मिनट क्षमता के ऑक्सीजन प्लांट की फायनल टेस्टिङ्क्षग हो गई है। बीपीसीएल कंपनी ने 9 करोड़ रुपए लागत का प्लांट शुरु कर दिया है। प्लांट शुरु होने से जिला अस्पताल अब ऑक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर हो गया है। प्लांट से वार्ड तक ऑक्सीजन की सीधी सप्लाई हो सकेगी। कोविड संक्रमण की दूसरी लहर के दौरान की मांग को देखते हुए अभी एक और प्लांट स्थापित किया जाना है। इसके लिए जिला अस्पताल परिसर में पहले प्लांट के बगल में ही दूसरे प्लांट का फाउंडेशन तैयार कर लिया गया है। प्रशासन का कहना है कि जल्द ही दूसरा प्लांट भी आने वाला है।
जिला अस्पताल हुआ आत्मनिर्भर
जिला अस्पताल हुआ आत्मनिर्भर
दो प्लांट होने से नहीं मचेगा हाहाकार
राज्य सरकार से जल्द मिलने वाले 1 हजार लीटर प्रतिमिनट क्षमता के दूसरे ऑक्सीजन प्लांट का फाउंडेशन बनकर तैयार हो गया है। प्लांट के आते ही इनस्टॉल करने का काम शुरु किया जाएगा। दूसरा प्लांट भी शुरु होने से जिला अस्पताल ऑक्सीजन की आपात जरूरतों को पूरा करने में सक्षम हो जाएगा। कोरोना की दूसरी लहर के समय मचीऑक्सीजन की का हाहाकार अब दो प्लांट होने से नहीं होगा। जिला अस्पताल में 850 लीटर प्रतिमिनट ऑक्सीजन की व्यवस्था शुरु हो गई है, वहीं 1 हजार का प्लांट तैयार होने से 1850 लीटर प्रतिमिनट क्षमता हो जाएगी। जो कोरोना की दूसरी लहर के समय हुई ऑक्सीजन की मांग को पूरा करने में सक्षम होगी।

एमपीआरडीसी का प्लांट अभी भी अटका
जिला अस्पताल में दो ऑक्सीजन प्लांट लगाने की योजना है। एमपीआरडीसी (मध्यप्रदेश सड़क विकास निगम) के संयोजन से एरोक्स लिमटेड को जिला अस्पताल में 300 लीटर प्रति मिनट ऑक्सीजन जनरेट करने वाला प्लांट लगाना है। जिसका काम जनरेटर के अभाव में अटका है। वहीं दूसरा प्लांट 1500 लीटर ऑक्सीजन प्रति मिनिट का निर्माण क्षमता वाला लगाया जाना था। जिसके लिए 7 मई 2021 को स्वीकृति मिली थी, लेकिन जिला अस्पताल 850 लीटर प्रतिमिनट क्षमता का प्लांट ही पहुंच पाया है। जिसने काम करना शुरु कर दिया है।
250 सिलेंडर प्रतिदिन तक पहुंची थी मांग
जिला अस्पताल के कोविड आइसीयू में गंभीर मरीजों को भर्ती कराया जाता है। पहली व दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन सिलेंडर की खपत रोजाना 250 सिलेंडर तक पहुंच गई थी। ऐसे में 850 लीटर प्रति मिनट क्षमता का प्लांट ऑक्सीजन की ज्यादा मांग होने
रोजाना 100 बड़े सिलेंडर बरावर ऑक्सीजन उत्पादन करेगा। गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने पिछले दिनों जिले के कोविड प्रभारी और खजुराहो सांसद की अनुशंसा पर 15 सौ एलपीएम क्षमता वाला ऑक्सीजन प्लांट जिला अस्पताल में स्थापित करने की स्वीकृति प्रदान दी। लेकिन केंद्र सरकार ने 15 सौ के स्थान पर 850 लीटर प्रति मिनट ऑक्सीजन प्लांट छतरपुर पहुंचाया है।

फैक्ट फाइल

प्लांट की योजना- 2
कुल क्षमता- 1850 लीटर प्रति मिनट
प्लांट शुरु- 850 लीटर प्रति मिनट
फाउंडेशन तैयार- 1000 लीटर प्रति मिनट
ऑक्सीजन की उच्च मांग- 250 सिलेंडर प्रतिदिन
ऑक्सीजन की वर्तमान मांग- 60 सिलेंडर प्रतिदिन

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Cash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतहो जाइये तैयार! आ रही हैं Tata की ये 3 सस्ती इलेक्ट्रिक कारें, शानदार रेंज के साथ कीमत होगी 10 लाख से कमइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजमां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतShani: मिथुन, तुला और धनु वालों को कब मिलेगी शनि के दशा से मुक्ति, जानिए डेटइन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीराजस्थान में आज भी बरसात के आसार, शीतलहर के साथ फिर लौटेगी कड़ाके की ठंडPost Office FD Scheme: डाकघर की इस स्कीम में केवल एक साल के लिए करें निवेश, मिलेगा अच्छा रिटर्न

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.