रोजाना 90 टन कचरे से बनेगी खाद-ईंट, परियोजना को मिली मंजूरी, डीपीआर तैयार

छतरपुर में 77.50 एकड़ रकबे पर लगेगा कचरा प्लांट
रोज बनेगी 30 टन कम्पोस्ट खाद, 30 टन मिलेगा सूखा ईधन

By: Dharmendra Singh

Published: 18 Sep 2020, 06:00 AM IST

छतरपुर। नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग ने चार जिलों छतरपुर, टीकमगढ़ पन्ना व निवाड़ी के लिए लगभग 85 करोड़ रुपए की लागत से कचरा प्रसंस्करण व निपटान की परियोजना को मंजूरी दी है। इस प्रोजेक्ट के तहत प्रतिदिन लगभग 200 टन कचरा प्रसंस्करण कर निपटान करने का लक्ष्य है। कचरे से कम्पोस्ट खाद, सूखे ईंधन के ब्रिक्स (ईंट) बनाए जाना है। साथ ही सूखे कचरे को गड्ढे भरे जाने के योग्य बनाना है। इसके लिए रॉल्ज इंडिया वेस्ट मैनेजमेंट प्रायवेट लिमिटेड के साथ एग्रीमेंट हुआ है। रॉल्ज इंडिया के मैनेजर राम शर्मा के अनुसार कोरोना के कारण परियोजना में देरी हो रही है। लगभग 4-6 महीने में काम चालू हो जाने की उम्मीद है। चारों जिलों में यूनिट लगाने का काम गति पर है। कई जगह की पर्यावरण स्वीकृति हो गई है व बाकी स्वीकृतियां, भूमि सर्वे का काम कर लिया गया है। प्रोजेक्ट की डीपीआर बनाकर नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग भोपाल में जमा करा दी गई है।

गड्ढे भी भरे जाएंगे
शहरी ठोस कचरे को एकत्र कर कचरे का प्रसंस्करण करके निपटान किया जाना है। कचरे से कम्पोस्ट खाद, सूखे ईधन की ईंटे बनाई जाएंगी व सूखे कचरे को कंप्रेस करके गड्ढे भरने के काम मेें लाया जाएगा। इन ब्रिक्स (ईंटे)को कंपनी विक्रय करेगी। इसके तहत चार जिलों छतरपुर, टीकमगढ़, पन्ना एवं निवाड़ी के 33 नगर निकायों के लगभग 200 टन कचरे का प्रतिदिन प्रसंस्कण कर निपटान किया जाना है। परियोजना का प्रमुख केन्द्र छतरपुर होगा। हर जिले में अलग-अलग यूनिट लगाई जाएगी।

रोज बनेगी 30 टन खाद
छतरपुर में लगभग 77.50 एकड़ रकबे पर कचरा प्लांट काम करेगा। छतरपुर के लिए पर्यावरण स्वीकृति मिल गई है जिसके अनुसार लगभग 90 टन कचरा प्रतिदिन प्रसंस्करण की क्षमता दिखाई गई है। इस प्रसंस्करण किए गए कचरे के निपटान से 30 टन प्रतिदिन कम्पोस्ट खाद, 30 टन प्रतिदिन सूखा ईधन व 30 टन प्रतिदिन भूमि भराव का मटेरियल प्राप्त होने का लक्ष्य बताया गया है।

निगरानी एजेंसी की जा रही तय
परियोजना की डीपीआर रिपोर्ट भोपाल से आने व निगरानी के लिए स्वतंत्र इंजीनियर एजेंसी का टेंडर स्वीकृत होने के बाद गति आएगी। परियोजना से ग्रीन छतरपुर,क्लीन छतरपुर मिशन का सपना सार्थक होगा।
अंकित अरजरिया, प्रभारी सब-इंजीनियर, नपा छतरपुर

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned